गोवंशों को लंपी से बचाने के लिए जयपुर में युवा हर रोज बना रहे 50 किलो औषधीय लड्डू
topStoriesrajasthan

गोवंशों को लंपी से बचाने के लिए जयपुर में युवा हर रोज बना रहे 50 किलो औषधीय लड्डू

Jaipur: गोवंशों को लंपी से बचाने के लिए जयपुर में युवा हर रोज 50 किलो औषधीय लड्डू बना रहे है और गौसेवा में जुटे हुए हैें.

गोवंशों को लंपी से बचाने के लिए जयपुर में युवा हर रोज बना रहे 50 किलो औषधीय लड्डू

Jaipur: जयपुर के झोटवाड़ा विधानसभा की ग्राम पंचायत फतेहपुरा और आसपास के दर्जनभर गांवों में हजारों को तादात में गौवंश लंपी बीमारी से संक्रमित होकर काल से अपनी जिंदगी बचाने को लड़ाई लड़ रहा है, मौत से जूझ रही गौमाता की जब सरकारी स्तर पर सुध नहीं ली गई तो यहां कुछ युवाओं में गौमाता के प्राणों की रक्षा करने का बीड़ा उठाया है, गांव में स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय अचानचुक्या में रोजाना 50 किलो सामग्री के औषधीय गुणों से परिपूर्ण लड्डू तैयार किए जा रहे है, लड्डू बनाने के बाद यही युवाओं की टोलिया अपने वाहनों पर सवार होकर निकल जाती है.

ग्राम पंचायत के अलग अलग गांवों की ओर लंपी बीमारी से पीड़ित गौवंश की तलाश में जहां भी बीमार गौवंश दिखाता है वही वाहन रोककर जुट जाते है गौमाता की सेवा में कोई बीमार गाय को लड्डू खिलाकर सेवा करता है तो कोई दवा लगाकर गौमाता के प्राण बचाने को कोशिश करता है, जहां जरूरी है वहां औषधीय तरल पदार्थ का छिड़काव भी किया जा रहा है, अगर कोई गौवंश बीमारी के ज्यादा ही ग्रसित हो तो उसे पशु चिकित्सालय भेजने की भी व्यवस्था की जाती है, गौसेवा का यह बेड़ा उठाया है गौ सेवा समिति संरक्षक संजय वर्मा के साथ युवा साथियों की टीम ने, गायों को लंपी रोग से बचाने के लिए यह औषधीय लड्डू तैयार करके उनको जगह-जगह जाकर खिला रहे हैं. जो गाय लंपी रोग से ज्यादा ग्रसित है उन पर नीम के पत्तों, फिटकरी और कपूर आदि को मिक्स करके छिड़काव किया जा रहा है, पशु पालकों को भी इस प्रकार से तरल घोल बनाकर छिड़काव करके का सुझाव दिया जा रहा है.

राजस्थान उच्च न्यायालय अधिवक्ता नीरज कुड़ी ने बताया कि रोजाना विद्यालय परिसर में औषधीय युक्त लड्डू बनाकर बीमार गायों को रोजाना खिला रहे हैं. जो गौवंश बीमारी से ज्यादा ग्रसित उनके उपचार की भी व्यवस्था की जा रही है, इस पुनीत कार्य को करने के लिए ग्राम पंचायत फतेहपुरा की टीम युवा शक्ति टीम अपना यथा संभव योगदान दे रही है. इन औषधीय गुणों से युक्त लड्डुओं को तैयार करने में लगभग 10 प्रकार की औषधियों का उपयोग किया जाता है.
गौसेवक महेश, शंकर, विनोद कुमावत, रोशन, मुकेश, बाबूलाल चौधरी, लोकेश, नवरतन आदि लोगो की मौजूदगी में युवा शक्ति की टीमे गायों की सेवा के लिए पिछले 15 दिन से नियमित अपनी सेवाएं दे रहे है.

भगवान सहाय कुमावत ने बताया कि जो बेसहारा गौवंश लम्पी बीमारी से अत्यधिक प्रभावित हुआ है और सामान्य उपचार से जिनके स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हो रहा है ऐसे गौवंश को वाहन में डालकर नजदीकी पशु चिकित्सालय या आइसोलेशान सेंटर पर पहुंचाया जा रहा है. वहीं ग्राम पंचायत फतेहपुरा के सरपंच प्रतिनिधि रामदेव फंगाल ने आमजन और पशु पालकों को यह संदेश दिया है कि जिन पशुओं की मृत्यु लंपी वायरस के कारण हुई है ऐसे पशु को निर्धारित मापदंडों के अनुसार दफनाया जाए. जिसके लिए ग्राम पंचायत स्तर पर मिलने वाली हर संभव मदद की जाएगी.

Reporter- Amit Yadav

ये भी पढ़े: अशोक गहलोत पर जब पहली बार सोनिया गांधी ने जताया था भरोसा, सौंपी थी ये बड़ी जिम्मेदारी

ये भी पढ़े: राहुल गांधी करेंगे राजस्थान के नए सीएम के नाम का फैसला, सोनिया गांधी और अशोक गहलोत के साथ बैठक जल्द

Trending news