Udaipurwati Result 2023: उदयपुरवाटी में राजेंद्र गुढ़ा ने बिगाड़ दिए कांग्रेस के समीकरण, बीजेपी को बढ़त! देखें नतीजें
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1988040

Udaipurwati Result 2023: उदयपुरवाटी में राजेंद्र गुढ़ा ने बिगाड़ दिए कांग्रेस के समीकरण, बीजेपी को बढ़त! देखें नतीजें

Udaipurwati Jhunjhunu Vidhan Sabha Chunav Result 2023: उदयपुरवाटी विधानसभा सीट शेखावाटी क्षेत्र के झुंझुनू जिले की सबसे हॉट सीट में से एक है.

Udaipurwati Result 2023: उदयपुरवाटी में राजेंद्र गुढ़ा ने बिगाड़ दिए कांग्रेस के समीकरण, बीजेपी को बढ़त! देखें नतीजें

Udaipurwati Jhunjhunu Vidhan Sabha Chunav Result 2023: उदयपुरवाटी विधानसभा सीट शेखावाटी क्षेत्र के झुंझुनू जिले की सबसे हॉट सीट में से एक है. यहां साल 2018 में बसपा के राजेंद्र गुढ़ा  ने जीत दर्ज की थी, 2023 के विधानसभा चुनाव में यहां मुख्य मुकाबला कांग्रेस के भगवानराम सैनी बनाम भाजपा के सुभकारन चौधरी बनाम शिवसेना के राजेंद्र गुढ़ा के बीच है. 2023 में इस सीट पर 76.42 प्रतिशत मतदान हुआ, जो कि साल 2018 में हुए विधानसभा चुनाव से -0.11 फीसदी घटा है, पिछले चुनाव में यहां 76.53 प्रतिशत मतदान हुआ था.

खासियत

गुढ़ा जिसे बाद में उदयपुरवाटी विधानसभा क्षेत्र कहा गया. यहां से सबसे ज्यादा जीत का रिकॉर्ड शिवनाथ सिंह के नाम है. 1957 में शिवनाथ सिंह पहली बार विधायक चुने गए. इसके बाद 1967, 1993 और 1998 में विधायक बने. वहीं इसी सीट से बैक-टू-बैक दो भाई भी विधायक चुने गए. 2003 में रणवीर सिंह गुढ़ा विधायक चुने गए थे. इसके बाद 2008 में उनके छोटे भाई राजेंद्र सिंह गुढ़ा विधायक बने. हालांकि 2013 में गुढ़ा चुनाव हार गए, लेकिन 2018 में एक बार फिर विधायक के रूप में विधानसभा पहुंचे.

विधानसभा चुनाव 2018

2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार बदला और भगवान राम सैनी को टिकट दिया, जबकि भाजपा का विश्वास शुभकरण चौधरी पर कायम रहा. दूसरी ओर राजेंद्र गुढ़ा अपनी पुरानी पार्टी में वापस लौट गए और बीएसपी के टिकट पर चुनावी मैदान में उतरे. इस चुनाव में 59,362 मतों से राजेंद्र गुढ़ा की जीत हुई जबकि बीजेपी के शुभकरण चौधरी दूसरे स्थान पर और कांग्रेस के भगवान राम सैनी तीसरा स्थान पर रहे.

विधानसभा चुनाव 2013

2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने राजेंद्र गुढ़ा को टिकट दिया तो वहीं बीजेपी की ओर से शुभकरण चौधरी चुनावी मैदान में उतरे. चुनाव में निर्दलीय ही ताल ठोक रहे रविंद्र कुमार भड़ाना ने भी कड़ी चुनौती पेश की. इस त्रिकोणीय मुकाबले में मोदी लहर पर सवार शुभकरण चौधरी की जीत हुई और उन्हें 57,960 मत मिले जबकि पिछला चुनाव जीत चुके राजेंद्र गुढ़ा की हार हुई और उन्हें 46089 मत मिले. वहीं रविंद्र कुमार भड़ाना भी 32000 से ज्यादा मत लेने में कामयाब हुए.

Trending news