राजस्थान पटवार संघ अजमेर में निकाली न्याय यात्रा रैली, राजस्व मंडल का घेराव कर दी चेतावनी
topStories1rajasthan1464536

राजस्थान पटवार संघ अजमेर में निकाली न्याय यात्रा रैली, राजस्व मंडल का घेराव कर दी चेतावनी

राजस्थान पटवार संघ के बैनर तले प्रदेशभर के पटवारी आज अजमेर में न्याय यात्रा रैली निकालकर सरकार से हुए समझौते को लागू करने की मांग कर रहे हैं. प्रदेश भर के पटवारी राजस्व मंडल का घेराव करेंगे और गांधीजी के कदमों पर चल रहे पटवारी करो या मरो के सिद्धांत को अपनाते हुए इस आंदोलन को और उग्र करेंगे. 

राजस्थान पटवार संघ अजमेर में निकाली न्याय यात्रा रैली, राजस्व मंडल का घेराव कर दी चेतावनी

Ajmer News: राजस्थान पटवार संघ के बैनर तले प्रदेशभर के पटवारी आज अजमेर में न्याय यात्रा रैली निकालकर सरकार से हुए समझौते को लागू करने की मांग कर रहे हैं. अजमेर राजस्व मंडल पर राजस्थान पटवार संघ के बैनर तले विगत 14 नवंबर से प्रदेश अध्यक्ष के साथ ही अन्य पटवारियों की ओर से आमरण अनशन किया जा रहा है लेकिन फिर भी पटवारियों की सरकार द्वारा कोई सुनवाई नहीं की गई जिसके चलते सभी पटवारी लालबंद है और आज अपने समझौते को लागू कराने की मांग को लेकर प्रदेशभर के पटवारी अजमेर पहुंचे. जहां राजस्थान राजस्व मंडल का घेराव कर प्रदेश सरकार को अंतिम चेतावनी दी जाएगी.

 राजस्थान पटवार संघ के अध्यक्ष राजेंद्र कुमार ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से विगत 3 जुलाई और 4 अक्टूबर को वेतन विसंगति कैडर परिवर्तन मुकदमे वापस लेने सहित सात सूत्रीय मांगों को लेकर समझौता किया गया था लेकिन उसे आज तक लागू नहीं किया गया है. जिसके कारण प्रदेशभर के पटवारी परेशान है और नाम है आज सभी अजमेर पहुंचे. जहां उन्होंने गांधीवादी तरीके से अपना विरोध जताते हुए न्याय यात्रा निकाली है. 

ये भी पढ़ें- राजस्थान के तापमान में गिरावट, 16 जिलों में रात का पारा 10 डिग्री से नीचे दर्ज

यह यात्रा अजमेर की आनासागर चौपाटी से शुरू होकर विभिन्न मार्गों से होते हुए राजस्व मंडल पहुंची जहां राजस्व मंडल का घेराव कर सरकार को चेतावनी दी गई अगर जल्द ही सभी मांगों पर निर्णय नहीं किया जाता है तो प्रदेश भर के पटवारी राजस्व मंडल का घेराव करने के बाद यही महापड़ाव डालेंगे और गांधीजी के कदमों पर चल रहे पटवारी करो या मरो के सिद्धांत को अपनाते हुए इस आंदोलन को और उग्र करेंगे जिसकी जिम्मेदारी राजस्थान सरकार राजस्व मंडल और राजस्व विभाग की होगी.

Reporter- Ashok Bhati

Trending news