सुखदेव सिंह गोगामेड़ी केस के शूटर्स 4 दिन में घूमे 4 शहर, क्राइम करने के बाद क्‍या किया? पढ़ें Inside Story
trendingNow12002994

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी केस के शूटर्स 4 दिन में घूमे 4 शहर, क्राइम करने के बाद क्‍या किया? पढ़ें Inside Story

Sukhdev Singh Accused Arrest: सुखदेव सिंह गोगामेड़ी को गोली मारने वाले शूटर्स को पुलिस ने पकड़ लिया है. आरोपी 4 दिन में 4 शहरों तक भागे और आखिरकार में होटल में छिपे आरोपियों ने पुलिस को पकड़ लिया है.

सुखदेव सिंह गोगामेड़ी केस के शूटर्स 4 दिन में घूमे 4 शहर, क्राइम करने के बाद क्‍या किया? पढ़ें Inside Story

Sukhdev Singh Gogamedi Murder Case: राजस्थान के चर्चित सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या को लेकर पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है. पुलिस ने हत्या में शामिल दो शूटर्स समेत तीन लोगों को चंडीगढ़ से गिरफ्तार कर लिया है. 5 दिसंबर को सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या हुई थी और 9 दिसंबर को आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हैं. राजस्थान के चर्चित गोगामेड़ी हत्याकांड में पुलिस ने आखिरकार आरोपियों को गिरफ्तार कर ही लिया. पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच शूटर रोहित और हत्याकांड के बाद शूटर्स का साथ देने वाले उधम को लेकर दिल्ली पहुंची है. शूटर नितिन फौजी को राजस्थान पुलिस ले गई है. दिल्ली पुलिस अब रोहित और उधम से पूछताछ कर रही है.

कहां छिपे थे सुखदेव हत्याकांड के आरोपी?

बता दें कि दिल्ली पुलिस (क्राइम ब्रांच) और राजस्थान पुलिस का जॉइंट ऑपरेशन में ये बड़ी कामयाबी मिली है. चंडीगढ़ के सेक्टर 22 के होटल से गिरफ्तारी हुई है. गिरफ्तार आरोपियों के नाम- नितिन फौजी, रोहित राठौड़ और उधम हैं. आरोपियों के पास मोबाइल फोन बरामद किया गया है. जिस समय पुलिस ने रेड की तीनों ही आरोपी एक साथ होटल में मौजूद थे. अब पुलिस आरोपियों को उस जगह पर ले जा सकती है जहां हथियार रखे होंगे.

किसके इशारे पर किया मर्डर?

जान लें कि इन तीन आरोपियों में उधम ही वो शख्स है जो फरार होने के दौरान शूटर्स के साथ था. साथ ही पुलिस को ये जानकारी मिली है कि शूटर्स गैंगस्टर रोहित गोदारा के राइट हैंड वीरेंद्र चाहन के संपर्क में थे और उसी के इशारे पर हत्या को अंजाम दिया. आरोपी हत्या के बाद से लगातार वीरेंद्र के संपर्क में थे. पुलिस ने गोगामेड़ी के हत्यारों को वारदात के चार दिन बाद गिरफ्तार कर लिया. इस दौरान आरोपी चार शहरों में भागे लेकिन पुलिस की गिरफ्त से बच नहीं सके.

4 दिन में 4 शहर भागे आरोपी

गौरतलब है कि गोगामेड़ी के आरोपियों को चार दिन बाद गिरफ्तार कर लिया गया है. लेकिन इस दौरान दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और राजस्थान पुलिस की टीम को एक दो नहीं बल्कि चार शहरों तक तलाश करनी पड़ी. दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच सूत्रों के मुताबिक, हत्या के बाद आरोपी चार शहरों से होते हुए चंडीगढ़ पहुंचे थे. और यहीं के सेक्टर 22 के होटल में हो तीनों पकड़े गए.

आरोपियों की फरारी का रूट

सुखदेव सिंह की हत्या करने के बाद आरोपी सबसे पहले ट्रेन से हरियाणा के हिसार गए. इसके बाद हत्यारों के साथ उधम भी आ गया और तीनों हिसार से बस से मनाली निकल गए. मनाली से तीनों फिर मंडी निकल गए. मंडी से तीनों चंडीगढ़ गए और वहीं होटल में रुके. सेक्टर 22 के इसी होटल से तीनों आरोपी पकड़े गए. सूत्रों के मुताबिक, शूटर्स ने हत्या करने के बाद हथियारों को छिपा दिया था. ताकि भागते समय ट्रेन या बस में चेकिंग के समय न पकड़े जा सके. हालांकि, इस दौरान शूटर्स ने मोबाइल का इस्तेमाल किया था और आरोपियों के पकड़े जाने की सबसे बड़ा कारण भी यही बना. दरअसल पुलिस टेक्निकल सर्विलांस के जरिए ही तीनों आरोपियों तक पहुंच पाई.

Trending news