भोजन करने के बाद ना करें ये काम, दबे पांव घेर लगी गरीबी, पाई-पाई के होंगे मोहताज
trendingNow11882713

भोजन करने के बाद ना करें ये काम, दबे पांव घेर लगी गरीबी, पाई-पाई के होंगे मोहताज

Vastu Tips for Food: वास्‍तु शास्‍त्र में हर काम करने का सही तरीका और कुछ नियम बताए गए हैं. भोजन को लेकर भी वास्‍तु नियम हैं, जिनका पालन ना करने पर व्‍यक्ति गरीबी में घिर जाता है. 

भोजन करने के बाद ना करें ये काम, दबे पांव घेर लगी गरीबी, पाई-पाई के होंगे मोहताज

Vastu Tips for Money: हिंदू धर्म में भोजन पकाने को बहुत पवित्र काम माना गया है. क्‍योंकि इससे ना केवल शरीर को ऊर्जा मिलती है. साथ ही हिंदू धर्म में भोजन को सबसे पहले भगवान को अर्पित करने यानी कि भोग लगाने के लिए कहा गया है. इसके बाद प्रसाद के रूप में स्‍वयं भोजन करना चाहिए. ऐसा करने से सारी देवी-देवता प्रसन्‍न होते हैं. हिंदू धर्म में अन्‍न की देवी माता अन्‍नपूर्णा को बताया गया है. वे मां लक्ष्‍मी का ही रूप हैं. इसलिए भोजन करने से पहले और बाद में मां अन्‍नपूर्णा का स्‍मरण करके उन्‍हें धन्‍यवाद जरूर देना चाहिए. इससे मां लक्ष्‍मी भी प्रसन्‍न होती हैं और जीवन में कभी धन की कमी नहीं होती है. वहीं भोजन का अपमान करना या बर्बादी करना व्‍यक्ति को गरीब बनाता है. 

भोजन करने के बाद ना करें ये काम

भोजन करने के बाद एक बात का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी है, वरना इस मामले में की गई एक गलती आपको कंगाल कर देगी. अक्‍सर देखा होगा कि कुछ लोग खाना खाने के बाद थाली में ही हाथ धो लेते हैं. ऐसी गलती कभी ना करें. भोजन के बाद थाली में हाथ धोना मां लक्ष्मी को नाराज कर देता है और व्‍यक्ति धीरे-धीरे गरीब होता जाता है. 

ये गलतियां भी ना करें

- भोजन की बर्बादी करना या भोजन का अपमान करना मां लक्ष्‍मी को नाराज करता है. इससे घर में आर्थिक तंगी छा जाती है. 

- ना ही कभी भी रसोई घर को गंदा रखें. खासतौर पर रात में किचन को गंदा ना छोड़ें. इससे मां लक्ष्‍मी बहुत नाराज होती हैं. किचन में रात के समय जूठे बर्तन छोड़ना बड़े वास्‍तु दोष का कारण बनता है और घर में धन की आवक रोकता है. 

- रसोई घर में जहां पीने का पानी रखा हो वहां रात के समय भी हल्‍की रोशनी रखें. बेहतर होगा कि रोज रात में वहां दीपक जलाएं. इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं.

- कभी भी गंदे हाथों से या बिना नहाए भोजन ना पकाएं. साथ ही भोजन पकाते समय क्रोध और नकारात्‍मक विचारों से बचें. अपवित्र शरीर और मन से पकाया भोजन शरीर को नकारात्‍मकता ही देता है. उसे कई बीमारियों का शिकार बनाता है. 

- कभी भी दक्षिण दिशा की ओर मुख करके भोजन नहीं पकाएं. भोजन पकाने के लिए उत्तर या फिर पूर्व दिशा को ही शुभ माना जाता है.

- भोजन की बर्बादी बिल्कुन करें. जितनी भूख हो उतना ही भोजन थाली में लें. यदि किसी कारण से घर में भोजन बच जाए तो उसे जरूरतमंदों को या किसी गाय, कुत्‍ते को खिला दें. 

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्‍य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. ZEE NEWS इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

Trending news