मरियम नवाज बनी पाकिस्तान की पहली महिला सीएम, PTI सांसदों के हंगामे के बीच ली शपथ
Advertisement

मरियम नवाज बनी पाकिस्तान की पहली महिला सीएम, PTI सांसदों के हंगामे के बीच ली शपथ

Maryam Nawaz Oath: पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने शुक्रवार को पार्लियामेंट्री सियासत में अपनी पारी की बेहतरीन शुरुआत की.स्पीकर सिब्तैन खान ने सीएम पद की कैंडिडेट मरियम नवाज समेत 200 पीएमएल-एन सांसदों को पद की शपथ दिलाई. 

 

मरियम नवाज बनी पाकिस्तान की पहली महिला सीएम, PTI सांसदों के हंगामे के बीच ली शपथ

Maryam Nawaz Oath: पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने शुक्रवार को पार्लियामेंट्री सियासत में अपनी पारी की बेहतरीन शुरुआत की. आम चुनाम में  निर्वाचित के बाद मरियम ने देश के सबसे प्रमुख प्रांत पंजाब की पहली महिला मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. 50 साल की मरियम ने शुक्रवार को शरीफ के नेतृत्व वाली पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की तरफ से सीएम पद के लिए चुनी गई. मरियम के शपथ के दौरान पूर्व पीएम इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के सदस्यों ने जमकर नारेबाजी की.

स्पीकर सिब्तैन खान ने सीएम पद की कैंडिडेट मरियम नवाज समेत 200 पीएमएल-एन सांसदों को पद की शपथ दिलाई. साथ ही 113 सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल एसआईसी के करीब 100 सांसदों ने भी शपथ ली. बता दें कि पीटीआई कैंडिडेट्स असलम इकबाल और कुछ दूसरे सदस्य विधानसभा नहीं पहुंचे. इन मेंबरों पर पिछले साल इमरान खान की गिरफ्तारी के बाद सैन्य प्रतिष्ठानों पर 9 मई के हमलों में शामिल होने के आरोप है. इसलिए वे गिरफ्तारी के डर से शपथ लेने नहीं आए.  

पीटीआई सांसदों ने "जनादेश चोर" के लगाए नारे
शपथ दिलाने के बाद स्पीकर ने अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के चुनाव का भी ऐलान किया. बता दें कि पीएमएल-एन के सभी सांसदों ने पूर्व पीएम नवाज शरीफ की तस्वीर सदन में लाए थे. साथ ही 74 साल के पार्टी सुप्रीमो के साथ एकजुटता जाहिर करने के लिए सभी ने नारे भी लगाए. वहीं, सदन में पीटीआई के सांसदों ने "जनादेश चोर" के नारे लगाए. उन्होंने कहा कि एक बार कोर्ट उन्हें उनका चुराया हुआ जनादेश वापस दे दे तो वे सरकार बना लेंगे.

मरियम ऐतिहासिक शपथ
मरियम नवाज पाकिस्तान के इतिहास में पहली महिला मुख्यमंत्री बनी है. दूसरी तरफ, पाकिस्तान इलेक्शन कमीशन (ईसीपी) ने पीटीआई को महिलाओं और अल्पसंख्यकों के लिए आरक्षित सीटों से वंचित कर दिया है. ईसीपी का कहना है कि उसने वक्त पर महिलाओं और आरक्षित सीटों के लिए लिस्ट जमा नहीं की है. जबकि इस मामले में एसआईसी की अपील ईसीपी के पास लंबित है. पीटीआई समर्थित सफल स्वतंत्र उम्मीदवार अपनी पहचान बनाने और ऐसी हालात से बचने के लिए देश भर में एसआईसी में शामिल हुए हैं.वहीं, पीएमएल-एन और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ने ऐलान किया है कि वे 8 फरवरी के आम चुनावों के बाद त्रिशंकु संसद बनाने के बाद गठबंधन सरकार बनाएंगे. 

Trending news