JMI News: जामिया में पॉलिटिकल आइडियोलॉजी पर क्षेत्रवाद हावी; कैंपस में दो गुटों में हिंसक झड़प
Advertisement

JMI News: जामिया में पॉलिटिकल आइडियोलॉजी पर क्षेत्रवाद हावी; कैंपस में दो गुटों में हिंसक झड़प

JMI News: राजधानी दिल्ली में मौजूद जामिया यूनिवर्सिटी के कैंपस में दो गुटों में झड़प हुई है. जिसमें दो छात्र समेत तीन लोग जख्मी हो गए हैं. पूरी खबर पढ़ने के लिए नीचे स्क्रॉल करें.

JMI News: जामिया में पॉलिटिकल आइडियोलॉजी पर क्षेत्रवाद हावी; कैंपस में दो गुटों में हिंसक झड़प

JMI News: जामिया मिल्लिया इस्लामिया के कैंपस में दो समूहों के बीच झड़प हुआ है. जिसमें दो स्टूडेंट्स समेत तीन लोग घायल हो गए हैं. पुलिस ने यह जानकारी दी है. घायलों की पहचान बटला हाउस मकामी आदिल खान (24) के रूप में हुई है. जामिया का स्टूडेंट जफर (25) और साकिब (19) भी छात्र हैं. घटना शुक्रवार शाम की है. हालांकि, जामिया में अक्सर क्षेत्रवाद का वर्चस्व कायम रखने के लिए छात्रों में झड़प होती रहती है.

अधिकारियों के मुताबिक, जामिया के कुछ स्टूडेंट और पूर्व छात्र क्षेत्रीय आधार पर जुड़े हुए हैं, जैसे, पूर्वांचल, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और मेवात, एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "कभी-कभी, ये समूह बेहद छोटे मुद्दों पर एक-दूसरे से लड़ते हैं, जो उन लोगों की भागीदारी से और भी बदतर हो जाता है जो छात्र नहीं हैं या पूर्व छात्र हैं."

पुलिस ने क्या कहा?
पुलिस ने बताया कि शुक्रवार रात करीब 8.25 बजे जेएमआई परिसर में झगड़े की सूचना मिली, जिसके बाद पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची, जहां सिर्फ दर्शक ही मौजूद थे. पुलिस उपायुक्त (दक्षिण-पूर्व) राजेश देव ने कहा, "बाद में एम्स ट्रॉमा सेंटर और होली फैमिली अस्पताल से जानकारी मिली कि घटना में तीन लोग घायल हो गए हैं." शुरुआती जांच से पता चला है कि तीनों को चोटें आई थीं, जो कथित तौर पर कुछ लोगों नबीद हसन, शारुख त्यागी, नोमल त्यागी, नोमल अली, अब्दुल हसन, जुबैर चौधरी और फरीद चौधरी के जरिए लड़ाई के दौरान उन्हें पहुंचाई गई थीं.

दर्ज हुआ मुकदमा
डीसीपी ने कहा, "भारतीय दंड संहिता के तहत दंगा और धारा 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास) का मामला दर्ज किया गया है." डीसीपी ने आगे कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया है कि यह सुनिश्चित करने के लिए सभी कोशिश किए जाएं कि बाहर से लोग परिसर के भीतर प्रवेश न करें और माहौल खराब न करें. आरोपी व्यक्तियों को पकड़ने के लिए टीमों का गठन किया गया है.

Trending news