शादी को लेकर ये कैसा फरमान? दूल्हा नहीं हुआ क्लीन शेव तो नहीं होंगे फेरे!
trendingNow,recommendedStories0/zeephh/zeephh1224663

शादी को लेकर ये कैसा फरमान? दूल्हा नहीं हुआ क्लीन शेव तो नहीं होंगे फेरे!

अगर किसी भी युवक को अपनी शादी में दाढ़ी रखने का शौक है तो उनके लिए यह खबर बेहद जरूरी है. शादी को लेकर अजीब फरमान जारी...

 

शादी को लेकर ये कैसा फरमान? दूल्हा नहीं हुआ क्लीन शेव तो नहीं होंगे फेरे!

चंडीगढ़- शादी का दिन हर किसी के लिए खास होता है. शादी एक बार ही होनी है, इसलिए हर कोई इस खास दिन के लिए सपने सजाता है. क्या पहनना हैं से लेकर कैसा लुक रखना हैं. अगर किसी भी युवक को अपनी शादी में दाढ़ी रखने का शौक है तो उनके लिए यह खबर बेहद जरूरी है. शादी को लेकर अजीब फरमान जारी हुआ है.

राजस्थान में पाली के कुमावत समाज के 19 खेड़ों (गांव) के लोगों ने समाज में होने वाली शादियों को लेकर अलग ही फैसला लिया है. अगर आपने इस फरमान की तौहीन कर दी तो शायद आपकी शादी भी नहीं हो पाएगी. 

लोगों ने निर्णय लिया कि दूल्हा अगर क्लीन शेव होगा तो ही शादी की जाएगी. इसके अलावा हल्दी की रस्म में भी पीले फूल से लेकर कपड़ों पर पाबंदी रहेगी.

यानी दूल्हा क्लीन शेव होगा तो ही उसकी शादी होगी, वरना उसे शादी नहीं करने दी जाएगी. पाली के 19 गांवों में कुमावत समाज द्वारा इन फैसले को स्वीकार करने की बात सामने आई है.

कुमावत समाज के लोगों का दूल्हे की क्लीन शेव को लेकर तर्क था कि विवाह एक संस्कार है और दूल्हे को इसमें राजा के रूप में देखा जाता है. इनका कहना था कि दूल्हे कई तरह से दाढ़ी बढ़ाकर रस्में निभाते हैं, जो की समाज के लिए अशोभनीय है. इसके साथ ही फैशन के नाम थीम बेस्ड होने वाली हल्दी की रस्म में पीले फूल से लेकर कपड़े और डेकोरेशन पर भी फिजूलखर्ची की तो इसके लिए जुर्माना देना होगा.

Trending news