ब्रिटेनः भारतीय मूल की गृह मंत्री की कुर्सी खतरे में! इस्तीफे की मांग के बीच संसदीय समिति ने की कठोर टिप्पणी

ब्रिटेन में एक संसदीय समिति की शुक्रवार को जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रधानमंत्री ऋषि सुनक की ओर से गृह मंत्री के रूप में भारतीय मूल की सुएला ब्रेवरमैन की पुनर्नियुक्ति से एक ‘खतरनाक मिसाल’ कायम हुई है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 2, 2022, 08:33 PM IST
  • सुएला ब्रेवरमैन के इस्तीफे की मांग तेज
  • समिति ने स्थिति को बताया असंतोषजनक
ब्रिटेनः भारतीय मूल की गृह मंत्री की कुर्सी खतरे में! इस्तीफे की मांग के बीच संसदीय समिति ने की कठोर टिप्पणी

नई दिल्लीः ब्रिटेन में एक संसदीय समिति की शुक्रवार को जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रधानमंत्री ऋषि सुनक की ओर से गृह मंत्री के रूप में भारतीय मूल की सुएला ब्रेवरमैन की पुनर्नियुक्ति से एक ‘खतरनाक मिसाल’ कायम हुई है. 

सुएला ब्रेवरमैन के इस्तीफे की मांग तेज
अपने निजी ईमेल से गोपनीय जानकारी भेजकर मंत्रिस्तरीय संहिता का उल्लंघन करने वाली सुएला ब्रेवरमैन (42) ने पूर्व प्रधानमंत्री लिज ट्रस के मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था. सुनक ने 25 अक्टूबर को उन्हें फिर से गृह मंत्री नियुक्त किया, जिसके बाद उनके इस्तीफे की मांग तेज हो गई है. 

समिति ने स्थिति को बताया असंतोषजनक 
‘हाउस ऑफ कॉमन्स पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन एंड कॉन्स्टिट्यूशनल अफेयर्स कमेटी’ ने कहा कि स्थिति ‘असंतोषजनक’ है और सार्वजनिक जीवन में आदर्शों को बनाए रखने के लिए और अधिक ‘मजबूत’ प्रणाली की आवश्यकता है. 

ब्रेवरमैन ने लिज ट्रस सरकार से दिया था इस्तीफा
समिति की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘गृह मंत्री की पुनर्नियुक्ति एक खतरनाक मिसाल कायम करती है.’ ब्रेवरमैन ने लिज ट्रस के प्रधानमंत्री पद छोड़ने से कुछ दिन पहले 19 अक्टूबर को इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने बाद में सांसदों से कहा था, ‘मैंने एक गलत निर्णय लिया था. मैंने इसकी जिम्मेदारी ली और मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया.’ 

समिति के अध्यक्ष एवं कंजरवेटिव पार्टी के सांसद विलियम रैग ने कहा, ‘नियमों को तोड़ने वालों के लिए उचित प्रतिबंधों के साथ, सार्वजनिक जीवन में आदर्शों को बनाए रखने के लिए एक मजबूत और प्रभावी प्रणाली सुनिश्चित करना सरकार पर निर्भर करता है.’ 

लेबर पार्टी ने की सरकार की आलोचना
उन्होंने कहा कि इस तरह का कानूनी समर्थन उन लोगों के लिए ‘बेहतर निवारक’ के रूप में कार्य करेगा, जो अनुचित तरीके से कार्य करने के लिए प्रलोभित हो सकते हैं. रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, विपक्षी दल लेबर पार्टी ने कहा कि सरकार के पास ‘वर्षों तक किए गए घोटालों’ के बाद सार्वजनिक जीवन में आदर्शों को बहाल करने की कोई योजना नहीं है. 

ब्रिटेन के कैबिनेट कार्यालय के एक प्रवक्ता ने रिपोर्ट के संदर्भ में कहा, ‘हम इस बात को लेकर स्पष्ट हैं कि यह सरकार प्रत्येक स्तर पर सत्यनिष्ठ, कुशल और जवाबदेह होगी.’

यह भी पढ़िएः ओसामा बिन लादेन ने बेटे के कुत्ते के साथ की थी ऐसी हरकत, आज तक भूल नहीं पाया उमर

 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़