गोवाः अपनी ही पार्टी के नेताओं पर बरसीं प्रियंका गांधी, कहा- यूपी जाइये, लौटकर यहां कड़ी मेहनत कीजिए

Goa Election 2022: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गोवा में अपनी ही पार्टी के पुरुष नेताओं पर तीखा प्रहार किया. वह सोमवार को प्रचार के लिए गोवा पहुंची थीं.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Feb 7, 2022, 09:05 PM IST
  • चुनाव प्रचार के लिए गोवा पहुंची थीं प्रियंका गांधी
  • यूपी में महिलाओं को टिकट देने का दिया हवाला

ट्रेंडिंग तस्वीरें

गोवाः अपनी ही पार्टी के नेताओं पर बरसीं प्रियंका गांधी, कहा- यूपी जाइये, लौटकर यहां कड़ी मेहनत कीजिए

पणजी: Goa Election 2022: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने गोवा में अपनी ही पार्टी के पुरुष नेताओं पर तीखा प्रहार किया. वह सोमवार को प्रचार के लिए गोवा पहुंची थीं. यहां उन्होंने महिलाओं को टिकट देने का महत्व बताया और यूपी में महिलाओं को अधिक टिकट दिए जाने का हवाला दिया.

दक्षिण गोवा जिले में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए प्रियंका ने कहा कि चुनावी राजनीति में अधिक महिलाओं के शामिल होने से राजनीति में नफरत का स्वर कम होगा, साथ ही भारत में जिस तरह से राजनीति की जाती है, उस पर करुणा का भाव भी आएगा.

यूपी आने का दिया न्योता
उन्होंने इससे पहले, अपने भाषण के दौरान उत्तर प्रदेश की राजनीति में महिलाओं की भागीदारी के महत्व पर दर्शकों को प्रभावित करने की कोशिश की और रैली में भाग लेने वालों में से एक को उत्तर प्रदेश में आने का न्योता दिया.

प्रियंका ने मंच पर मौजूद कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की ओर इशारा करते हुए कहा, 'आप सिर हिला रहे हैं. उत्तर प्रदेश जाइए और वहां से वापस आने के बाद यहां के लोगों को समझाने के लिए कड़ी मेहनत कीजिए.'

मंच पर पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम, गोवा चुनाव समिति के प्रभारी दिनेश गुंडू राव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गिरीश चोडनकर, नेता प्रतिपक्ष दिगंबर कामत सहित अन्य नेता मौजूद थे. प्रियंका पार्टी की उत्तर प्रदेश प्रभारी महासचिव हैं.

'नफरत से भरी हुई है आज की राजनीति'
उन्होंने कहा, 'पहली और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि महिलाओं की आबादी 50 फीसदी है तो 50 प्रतिशत प्रतिनिधित्व का हमारा अधिकार बनता है. ऐसा नहीं है कि कोई हम पर एहसान कर रहा है. यह हमारा अधिकार है और हम अपने हक के लिए लड़ना चाहती हैं. लेकिन उससे भी ज्यादा चिंता की बात है कि आज की राजनीति नफरत से भरी हुई है, गुस्से से भरी हुई है. आप भाषण सुनते हैं. 90 फीसदी भाषण नकारात्मक होता है.'

उन्होंने कहा, 'मैं दृढ़ता से मानती हूं कि हम महिलाएं व्यावहारिक लोग हैं और हम बहुत कुछ संभाल रही हैं, वास्तव में हम राजनीति में भी सकारात्मकता और करुणा ला सकते हैं. मेरा मानना है कि महिलाओं को भी अपने पैर पर खड़े होने में मदद की जानी चाहिए.'

यह भी पढ़िएः Uttarakhand Election: कांग्रेस डबल ब्रेक की सरकार, तोड़े उत्तराखंड के सपनेः मोदी

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़