Azadi Ka Amrit Mahotsav: गांधी जी पर क्यों लगे भगत सिंह के साथ अन्याय करने के आरोप.. क्यों फेंका गया गांधी जी पर बम?

Azadi Ka Amrit Mahotsav 2022: गांधी और इरविन के बीच हुए समझौते का कांग्रेस नेताओं के बहुमत में स्वागत किया लेकिन युवा कांग्रेसी इस समझौते से इसलिए असंतुष्ट थे क्योंकि गांधीजी भगत सिंह को फांसी से नहीं बचा पाए. यहीं कारण रहा की साल 1931 में हुए कांग्रेस के कराची अधिवेशन में जब महात्मा गांधी पहुंचे तो उन्हें काले झंडे दिखाए गए और उनकी गाड़ी पर बम फेंका गया. हमले में गांधी जी बच गए और भीड़ के सामने आकर एक बात बोली. "तुम गांधी को तो मार सकते हो लेकिन गांधीवाद को नहीं.. लेकिन महात्मा गांधी पर ऐसे आरोप क्यों लगे जानिए इस अंक में.....
0:58
1:10
1:4
0:36
0:36
0:31
5:44
0:33
0:39
0:42
0:45
0:55
0:47
0:37
0:31
0:42
7:55
1:24
0:39
1:52
1:9
0:36
0:31
0:50
0:31
1:13
1:34
2:14
1:30
0:46
Gandhi Jayanti,Bhagat Singh Execution Truth,Bhagat Singh Mahatma Gandhi,Shaheed e azam,Bhagat Singh Trial,Batukeshwar Dutt,bhagat singh,23 march 1931,Saunders Murder Case,Gandhi and Bhagat,Gandhi did to save Bhagat Singh,gandhi could save bhagat,lord irwin on bhagat singh,nehru on bhagat singh,Gandhi Irwin Agreement,Subhash Chandra Bose Bhagat Singh,भगत सिंहकी फांसीका सच,भगत सिंहफांसी,