टोंक ज़िले में दिखा पश्चिमी विक्षोभ का असर , किसानों के लिए अमृत बरसात
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1982751

टोंक ज़िले में दिखा पश्चिमी विक्षोभ का असर , किसानों के लिए अमृत बरसात

Tonk news: राजस्थान में पिछले दो दिन से सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के असर के चलते टोंक ज़िले में मावठ और बादलों की वजह कोहरे का दौर देखा जा रहा है. अचनाक बड़ी ठंड ने लोगों की आम दिनचर्या को प्रभावित कर दिया है. 

टोंक ज़िले में दिखा पश्चिमी विक्षोभ का असर , किसानों के लिए अमृत बरसात

Tonk news: राजस्थान में पिछले दो दिन से सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के असर के चलते टोंक ज़िले में मावठ और बादलों की वजह कोहरे का दौर देखा जा रहा है. अचनाक बड़ी ठंड ने लोगों की आम दिनचर्या को प्रभावित कर दिया है. तो वहीं दूसरी ओर यह बूंदाबन्दी और मावठ किसानों के लिए अमृत मानी जा रही है.प्रदेश में पारा दो से तीन डिग्री तक गिर गया है. 

किसान के लिए खुशी की बरसात 

रबी की फ़सल की बुआई और सिंचाई में जुटे किसान मावठ से खासे ख़ुश नज़र आ रहे है. ज़िले में मौनसून की बेरुखी और बीसलपुर बांध में पानी की कमी के चलते किसानों के लिए सिंचाई का पानी बड़ी परेशानी बना हुआ था, लेकिन अब मावठ और हल्की बूंदाबन्दी ने किसानों की परेशानियों को काफ़ी हद तक कम कर दिया है.

तापमान में भारी गिरावट
टोंक के देवली, उनियारा सहित कई ग्रामीण से लेकर शहरी इलाकों में मावठ का दौर कल से जारी है. कोहरा और मावठ के चलते ज़िले के न्यूनतम तापमान में भी भारी गिरावट दर्ज की गई है. कोहरे के कारण सड़को पर वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. अचनाक बड़ी ठंड से बचने के लिए लोग गर्म कपड़ो का इस्तेमाल कर रहे है.

पश्चिमी विक्षोभ का असर पूरे राजस्थान में दिखा 
बारिश के कारण ऑफिस में काम करने वाले और स्कूली छात्रों को काफी परेशानी छेलनी पड़ी. पश्चिमी विक्षोभ का असर पूरे राजस्थान में काफी ज्यादा देखा जा रहा है. साथ ही लोगों ने हीटर और सिगड़ी का प्रयोग करना शुरु कर दिया है. बरसात के कारण जयपुर में तापमान में 3 डिग्री से ज्यादा की गिरावट दर्ज  हुई . 

इसे भी पढ़ें: विश्व का अनोखा मंदिर जहां श्रीकृष्ण के साथ मीरा बाई की होती है पूजा, लाखों रुपए का खर्च में बनकर हुआ था तैयार

Trending news