एयरफोर्स में तैनात सुखराम जाट की उलझी मौत की गुत्थी, रेप और धर्म-परिवर्तन से जुड़ा है मामला!
Advertisement

एयरफोर्स में तैनात सुखराम जाट की उलझी मौत की गुत्थी, रेप और धर्म-परिवर्तन से जुड़ा है मामला!

Makrana, Nagaur News: नागौर के मकराना का रहने वाला एयरफोर्स में तैनात सुखराम जाट ने ड्यूटी के दौरान आत्महत्या कर ली. वहीं, सुखराम जाट की मौत का मामला रेप और धर्म-परिवर्तन से जुड़ा हुआ है. जानिए पूरी कहानी. 

एयरफोर्स में तैनात सुखराम जाट की उलझी मौत की गुत्थी, रेप और धर्म-परिवर्तन से जुड़ा है मामला!

Makrana, Nagaur News: नागौर के मकराना उपखंड के मिदियान निवासी एयरफोर्स में तैनात सुखराम जाट द्वारा हैदराबाद में ड्यूटी के दौरान आत्महत्या कर लेने के मामले में शव गच्छीपुरा थाने पहुंचने पर शुक्रवार को परिजनों द्वारा शव रखकर विभिन्न मांगों को लेकर प्रदर्शन किया गया. मृतक के परिजनों व पुलिस के मध्य लगभग 4:00 बजे समझौता वार्ता सफल हुई, जिसके बाद मृतक के शव का पैतृक ग्राम में अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया. 

बता दें कि मामला डीडवाना कुचमान जिले के गच्छीपुरा थाना क्षेत्र के मिदियान गांव का है. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह जानू ने बताया कि थाना इलाके के मिदियान गांव का रहने वाला 24 वर्षीय सुखाराम भींचर एयरफोर्स में हैदराबाद में तैनात था. 20 फरवरी को युवक ने अपने कमरे में फंदा लगाकर सुसाइड कर लिया. शुक्रवार सुबह परिजन शव लेकर गच्छीपुरा थाने पहुंचे और आरोपियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए.

इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धर्मवीर जानू और सीओ भवानी सिंह ने एसआईटी का गठन कर मामले की जांच करवाने, दुर्व्यवहार करने वाले कॉन्स्टेबल किशन सिंह को सस्पेंड करने और आरोपी हेड कांस्टेबल को एपीओ करने का आश्वासन दिया. इस पर परिजनों ने धरना समाप्त कर दिया और शव को अंतिम संस्कार के लिए ले गए. 

मृतक युवक सुखाराम भींचर के पिता आशाराम ने गच्छीपुरा थाने में रिपोर्ट दी है, जिसमें मृतक के दोस्त, उसकी पत्नी और दोस्त के पिता पर ब्लैकमेल, धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने का मामला दर्ज कराया है. रिपोर्ट में पिता ने बताया कि उसका बेटा सुखाराम भींचर की जान पहचान मकराना थाने में तैनात एक हेड कॉन्स्टेबल के बेटे से है. दोनों ने कुचामन में एक साथ पढ़ाई की थी. सुखाराम का साल 2017 वायु सेना में सलेक्शन हुआ था. 

सुखाराम नौकरी से छुट्टी पर आता तो हेड कांस्टेबल का बेटा उसे रुपये ऐंठने के लिए अपने साथ रखता था. अगस्त 2023 में वह छुट्टी लेकर आया तो हेड कांस्टेबल का बेटा अपनी पत्नी को लेकर उसके घर आया और उनके घर पर रहा. इसके बाद आरोपियों ने सुखाराम और उसकी पत्नी पूजा को भी अपने घर मकराना बुलाया.

इस दौरान हेड कांस्टेबल, उसके बेटे और बहू ने षड्यंत्र करते उसके बेटे को हिंदू धर्म के खिलाफ भड़काया और उसका ब्रेनवाश कर उसकी एयरफोर्स की पूरी सैलरी तीनों आरोपी हड़पने लगे. इस दौरान आरोपियों ने बेटे सुखाराम पर धर्म परिवर्तन के लिए अत्यधिक दबाव बनाया और ऐसा नहीं करने पर बहू से झूठा मुकदमा दर्ज कराकर एयरफोर्स की नौकरी से निकलवाने की धमकी दी. सुखाराम के पिता ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि हैदराबाद में ही उसके गांव का मोतीराम मार्बल का व्यापार करता है.  

दो महीने पहले रविवार को सुखाराम गांव के ही मोतीराम से मिले पहुंचा, जहां उसने मोतीराम को बताया कि उसका दोस्त पैसे के लालच में आ गया है और अब उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बना रहा है. साल 2020 से वह उससे रुपये ऐंठ रहा है. साथ ही पुलिस में झुठा मुकदमा दर्ज कराकर नौकरी से निकलवाने की धमकी दे रहा है. पिता ने बताया कि दोस्त की पत्नी ने 19 फरवरी 2024 को परबतसर थाने में रेप का झूठा मामला दर्ज कराया है, जिससे तनाव में आकर उसे बेटे सुखाराम ने अगले ही दिन 20 फरवरी की रात को हैदराबाद में ड्यूटी पर आत्महत्या कर ली. उसका बेटा ऑफिस के बाहर किराए पर कमरा लेकर रहता था. 

इधर परिजन आरोपियों की गिरफ्तारी होने तक मृतक का अंतिम संस्कार नहीं करने की मांग पर अड़े थे. धरने पर बैठे पूर्व विधायक श्रीराम भींचर व लोकेश गोदारा ने बताया कि शुक्रवार को एक कांस्टेबल किशनसिंह ने मृतक के परिजनों से बदतमीजी की थी. इसे सस्पेंड करने और आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ करने की मांग परिजनों ने रखी है. जानकारी के अनुसार, मकराना थाने में तैनात आरोपी हेड कांस्टेबल परबतसर थाना क्षेत्र मे रहता है. 

बीकानेर निवासी उसकी पुत्रवधु ने पति के दोस्त सुखा उर्फ सुखाराम भींचर पर 19 फरवरी को दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवाया था. रिपोर्ट में उसने बताया कि 4 मार्च 2021 को उसका निकाह हुआ था. निकाह के बाद वह अपने ससुर को अलॉट सीओ क्वार्टर में रहने चली गई थी. उसके पति का दोस्त सुखाराम पारिवारिक संबंध के कारण घर आता रहता था. वह छेड़छाड़ करता, जिसकी शिकायत करने पर उसका पति ध्यान नहीं देता. 

28 जनवरी 2024 को उसका ससुर, सास व ननद बीकानेर गए थे और उसका पति और 18 माह की पुत्री ही घर पर थे. उस समय सुखाराम उसके घर पर आया और उसके साथ दुष्कर्म किया. विवाहिता ने आरोप लगाया कि पति ने कुछ भी बोलने व विरोध करने पर उसकी बच्ची को जान से मारने की धमकी दी, जिस पर परबतसर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया. 

इसके अगले दिन सुखाराम ने हैदराबाद में सुसाइड कर लिया. उधर मामले को लेकर गच्छीपुरा सहित डीडवाना कुचामन जिले के थानों की पुलिस मौके पर तैनात किया गया. समझौता वार्ता सफल होने के बाद पंचनामा की कार्रवाई करते हुए परिजन शव को अंतिम संस्कार हेतु गांव ले गए, जहां पर ससम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. 

यह भी पढ़ेंः कोटा में धर्मांतरण मामले में शिक्षा मंत्री दिलावर हुए सख्त, कहा- दोषी मिले तो....

यह भी पढ़ेंः Chomu News: 6 साल पहले नौकर ने मालकिन की हत्या, अब मिली आजीवन कारावास की सजा

Trending news