trendingPhotos,recommendedPhotos/india/rajasthan/rajasthan2003710
photoDetails1rajasthan

Rajasthan News: कांग्रेस की राजस्थान में हार के बाद भारी मन से बंगले से विदा हो रहे मंत्री, देखें फोटोज

Rajasthan News: राजस्थान में बीजेपी की भारी मतों से जीत के बाद नई सरकार का बेसब्री से इंतजार हो रहा है. प्रदेश के हर कोने में अगला सीएम कौन होगा और मंत्रिमंडल में कौन-कौन शामिल होगा, इस बात की चर्चा हो रही है. इसी के चलते गहलोत सरकार के हारे हुए मंत्री भारी मन से बंगले खाली कर सिविल लाइन से अपना सामान समेटने में लगे हुए हैं. गहलोत सरकार के मंत्रियों से बंगलों से पीडब्ल्यूडी के कर्मचारी कूलर पंखों से लेकर दूसरा सामान समटेने में लगे हुए हैं. 

 

बंगले में लगे पपीते भाग्य में नहीं

1/5
बंगले में लगे पपीते भाग्य में नहीं

कांग्रेस मंत्री भजनलाल जाटव का इस बार वैर से चुनाव हार गए हैं. वहीं, उनके लगाए गए पेड़ पौधे ही अब उनके साथी हैं. उन्होंने बड़ी मेहनत से अपने बंगले में पपीते के पेड़ खड़ें किए थे, लेकिन शायद वो उनकी किस्मत में नहीं थे. 

 

गहलोत सरकार के 17 मंत्री चुनाव हारे

2/5
गहलोत सरकार के 17 मंत्री चुनाव हारे

राजस्थान विधानसभा चुनाव में गहलोत सरकार के 17 मंत्री चुनाव हारे हैं. विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी भी चुनाव नहीं जीत पाए.सिविल लाइंस में नेता प्रतिपक्ष को छोड़कर किसी दूसरे कांग्रेसी विधायक को बंगला मिल नहीं सकता है. इसी के चलते सभी बंगलों को गहलोत सरकार के मंत्री खाली करने में लगे हुए हैं. नई सरकार बनते ही मंत्रियों के शपथ लेते ही उन्हें बंगले दिए जाएंगे. 

वोटर्स ने मुंह मोड़ लिया-खाचरियावास

3/5
वोटर्स ने मुंह मोड़ लिया-खाचरियावास

कांग्रेस मंत्री अब इन बंगलों में एक-एक दिन भारी मन से गुजार रहे हैं. उनकी करारी हार ने उनका दिल तोड़ दिया है. रोज गरजने वाले मंत्रियों की दहाड़ में अब दर्द है.  प्रताप सिंह खाचरियावास कहा कि क्या नहीं किया जनता के लिए फिर भी वोटर्स ने मुंह मोड़ लिया.

 

बी.डी. कल्ला

4/5
बी.डी. कल्ला

बी.डी. कल्ला ने ज्योतिषियों की सलाह पर हार से बचने के लिए पहले ही बंगला  छोड़ दिया था, लेकिन फिर भी जीत नहीं मिल सकी. परसादी लाल मीणा, महेंद्र चौधरी, सालेह मोहम्मद, उदयलाल आंजना, भंवरसिंह भाटी, गोविंद मेघवाल, विश्वेंद्र सिंह, राजेंद्र यादव, प्रमोद जैन भाया, ममता भूपेश, जाहिदा खान, रामलाल जाट और शकुंतला रावत चुनाव हार गईं. 

 

खाली तो करना है ता फिर देर क्यों?

5/5
खाली तो करना है ता फिर देर क्यों?

बता दें कि अब ये सभी बंगले नए सिरे से तैयार होंगे. नए मंत्री अपने हिसाब से इन्हें तैयार कराएंगे.  शुभ मुहूर्त में नए मंत्री बंगलों में प्रवेश करेंगे. वहीं, हारे हुए मंत्रियों का कहना है कि खाली तो करना है ता फिर देर क्यों?