बस्सी: 72 बीघा भूमि में बनेगा डेयरी और खाद्य प्रौद्योगिकी कॉलेज, दिसंबर से होगा शुरू
topStories1rajasthan1455297

बस्सी: 72 बीघा भूमि में बनेगा डेयरी और खाद्य प्रौद्योगिकी कॉलेज, दिसंबर से होगा शुरू

Bassi, Jaipur news: जयपुर जिले के बस्सी में प्रदेश के दूसरे सबसे बड़े डेयरी और खाद्य प्रौद्योगिकी कॉलेज भवन शुरू होने जा रहा है, जिसके लिए 72 बीघा जमीन भी मिल गई है. कॉलेज बनाने की प्रक्रिया को लेकर विभाग ने आरसीडीएफ को भूमि की डीएलसी दर के 26 करोड़ रुपये भी जमा करा दिए हैं. 

बस्सी: 72 बीघा भूमि में बनेगा डेयरी और खाद्य प्रौद्योगिकी कॉलेज, दिसंबर से होगा शुरू

Bassi, Jaipur news: जयपुर जिले के बस्सी शहर में प्रदेश के दूसरे सबसे बड़े डेयरी और खाद्य प्रौद्योगिकी कॉलेज भवन छात्रावास और अन्य उत्पादों की विंग के लिए डेयरी कृषि फॉर्म की जमीन में से 72 बीघा जमीन मिली है, जिसके बाद भूमि चिह्नित करने का काम शुरू हो गया है. 

कॉलेज बनाने की प्रक्रिया को लेकर विभाग ने आरसीडीएफ को भूमि की डीएलसी दर के 26 करोड़ रुपये भी जमा करा दिए हैं. बस्सी के इस डेयरी और खाद्य प्रौद्योगिकी कॉलेज भवन प्रोजेक्ट पर सरकार 200 करोड़ रुपये खर्च करेगी. इसके 50 करोड़ रुपये की लागत से कॉलेज का पांच मंजिला भवन, इसमें अध्ययन करने वाले छात्र-छात्राओं के लिए छात्रावास, स्टाफ के लिए आवास आदि बनाए जाएंगे. इसके लिए शीघ्र ही टैंडर प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

हरियाणा के करनाल से भी बड़ा होगा
हरियाणा के करनाल जिले में वर्तमान में नेशनल डेयरी रिसर्च इंस्टीट्यूट है, जबकि बस्सी में बनने वाले कॉलेज में फूड को शामिल किया है, यानि यहां विद्यार्थियों के अध्ययन के अलावा दुग्ध से बनने वाले कई उत्पाद भी शुरू होंगे, आगे चल कर यहां पर किसानों को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा.

हाइवे पर होने से होंगे कई फायदे
बस्सी में यह कॉलेज आगरा-बीकानेर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित होगा. ऐसे में इस कॉलेज में बस्सी ही नहीं जयपुर, दौसा और पूर्वी राजस्थान के जिलों के विद्यार्थियों को आवागमन में सुविधा रहेगी. वहीं संस्थान में फूड उत्पादन शुरू होने के बाद हाइवे पर आवागमन करने वाले यात्रियों को भी यहां पर सुगमता से उत्पाद मिल जाएंगे.

हरियाणा के करनाल और प्रदेश के उदयपुर के बाद यह कॉलेज सबसे बड़ा कॉलेज होगा. इस कॉलेज का पूरा प्रोजेक्ट 200 करोड़ रुपये का है. इसमें भवन, छात्रावास, आवास और फैक्ट्री आदि शामिल है और पूरा परिसर 72 बीघा में होगा. विभाग ने आरडीसीएफ को भूमि के लिए 26 करोड़ रुपये जमा करा दिए हैं.

विज्ञान के विद्यार्थियों को ही मिलेगा दाखिला
यह कॉलेज टेक्नॉलोजी पर आधारित है, ऐसे में इस कॉलेज में 12वीं में विज्ञान विषय पास आउट विद्यार्थियों को ही दाखिला मिलेगा. कॉलेज में प्रवेश के लिए विद्यार्थियों को जैट (जेईटी) की परीक्षा पास करनी होगी, उसके बाद ही इस कॉलेज में दाखिला मिलेगा.

यह भी पढ़ें - जयपुर में दूसरे धर्म में लव मैरिज करने के बाद युवती को गोलियों से भुना, पति लतीफ ने भाई पर जड़ा आरोप

सरकार ने डेयरी और खाद्य प्रौद्योगिकी कॉलेज बस्सी को गत वर्ष ही चालू कर दिया था, लेकिन भवन के अभाव में यह कॉलेज वर्तमान में जामड़ोली में चल रहा था, लेकिन अब आगामी दिसम्बर 2022 में यह कॉलेज बस्सी के डेयरी फॉर्म में एक पुराने भवन में चालू कर दिया जाएगा. इस भवन में यह कॉलेज तब तक चलेगा, जब तक नया भवन तैयार नहीं होगा.

Reporter: Amit Yadav

खबरें और भी हैं...

गहलोत ने दिया बड़ा संकेत, OBC आरक्षण पर कल हो जाएगा फैसला, साथ ही कही ये बड़ी बात

Bharatpur News: नगर निगम में महापौर की बहन का प्रदर्शन, प्रशासन-पार्षद पर लगाए आरोप

पायलट के बढ़ते कद से जिनको दिक्कत, उनके इशारे पर धमकी दे रहे गुर्जर नेता बैंसला -मंत्री गुढ़ा

Trending news