अलवर का इतिहास कितना पुराना ? जानिए कैसे हुई स्थापना
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1983560

अलवर का इतिहास कितना पुराना ? जानिए कैसे हुई स्थापना

Alwar news: राजस्थान का हर एक जिला, शहेर किसी न किसी कारणों से पूरी दूनिया में जाना जाता है. इसी राजस्थान का  अलवर  शहेर अपने कलाकंद के स्वाद के लिए जाना जाता है. 

अलवर का इतिहास कितना पुराना ? जानिए कैसे हुई स्थापना

Alwar news: राजस्थान का हर एक जिला, शहेर किसी न किसी कारणों से पूरी दूनिया में जाना जाता है. इसी राजस्थान का  अलवर  शहेर अपने कलाकंद के स्वाद के लिए जाना जाता है. इसके साथ ही अलवर ऐतिहासिक महत्व के लिए भी बहुत खास है. 

वेणू ने मत्स्यपुरी ना बसाया 

किसी समय में अलवर राज्य प्रागैतिहासिक कालीन राज्य था. अलवर को वेणू ने मत्स्यपुरी नाम से एक नगर बसाया जो राजा विराट के पिता थे. साथ ही राजा विराट ने भी बैराठ नाम से अलवर  में नगर की स्थापना की थी.  

पहले यह क्षेत्र महाजनपद में  आता था, इसकी राजधानी विराटनगर थी. इसके बाद यह क्षेत्र मौर्य साम्राज्य के अधीन रहा.

हेमू ने दिल्ली पर राज्य स्थापित किया 
R.A. S Dr DC Meena अलवर में 14-15 वीं सदी में बडगुर्जर राजाओं ने राज्य किया. उस समय इसकी राजधानी माचाडी थी.  अलवर  पर पीपल देव, जगननाथ, मत्स्य देव,  ईश्वरसेन, संजय आदि राजाओं ने यहां राज्य किया था.   16वीं शताब्दी में  हेमू ने मुगलों को हराकर दिल्ली पर अपना राज्य स्थापित किया था. जिसके बाद दिल्ली के सम्राट बन विक्रमादित्य की उपाधि धारण किया. 

लेकिन बाद में पानीपत के द्वितीय युद्व के दौरान घायल होने के कारण  मुगलों ने उन्हें बन्दी बना लिया. जिसके बाद हेमू को मृत्युदण्ड दिया. 

अकबर ने प्रशासनिक कारणों से  मेवात को दो हिस्सों में बाट दिया. वह थे  अलवर और तिजारा. जिनकों आगरा प्रांत के अधीन रखा गया. 

सूरजमल जाट ने अलवर अपना कब्जा किया
सन् 1761ई में भरतपुर के शासक सूरजमल जाट ने  मुगल शासकों के कमजोर होने पर  अलवर अपना कब्जा जमा लिया. .25 नवम्बर, 1775 ई. में रावराजा प्रतापसिंह द्वारा यह राज्य स्थापना से पहले geographical perspective से  पॉंच देशों में अलग किया हुआ था. 

वह देश-: 

1. राठ देश: चौहान राजपूत मदन ने इसकी स्थापना सन 1170 ई. में की थी.

2. वाल देश: यह देश शेखावत राजपूतों के कब्जे में था.

3. राजावत देश: उस वक्त राजावत राजपूतों के कब्जे में क्षेत्र का एक हिस्सा रहा, जो  जयपुर के  राजावत राजपूत थें. 

4. मेवात: यहां के अधिकांश निवासी मुसलमान हैं, इस देश का क्षेत्रफल 1160 वर्गमील था.

5. नरूखण्डः नरूका राजपूतों ने राज्य का  निर्माण कराया. 

इसे भी  पढ़ें: नरेंद्र धोबी हत्याकांड का पर्दाफाश पुलिस ने पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त ट्रैक्टर को किया जब्त

Trending news