Rohtak News: रोहतक की पलवान सविता ने जॉर्डन में रचा इतिहास, U-20 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में जीता गोल्ड
trendingNow,recommendedStories0/india/delhi-ncr-haryana/delhiharyana1831862

Rohtak News: रोहतक की पलवान सविता ने जॉर्डन में रचा इतिहास, U-20 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में जीता गोल्ड

जॉर्डन में हो रही अंडर 20 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप (Under 20 World Wrestling Championship) में रोहतक के छोटूराम स्टेडियम (Chotu Ram Stadium) में प्रैक्टिस करने वाली सविता ने 62 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल कर देश का नाम रोशन किया है.

Rohtak News: रोहतक की पलवान सविता ने जॉर्डन में रचा इतिहास, U-20 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में जीता गोल्ड

Rohtak News: जॉर्डन में हो रही अंडर 20 विश्व कुश्ती चैंपियनशिप (Under 20 World Wrestling Championship) में रोहतक के छोटूराम स्टेडियम (Chotu Ram Stadium) में प्रैक्टिस करने वाली सविता ने 62 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल कर देश का नाम रोशन किया है. जिसे लेकर रोहतक के छोटू राम स्टेडियम में खुशी का माहौल है. 

कोच और सविता के ताऊ अपनी बेटी की जीत पर काफी खुश नजर आए. उनका कहना है कि अभी तो यह शुरुआत है. सविता ओलंपिक में भी पदक जीतने का भी कारनामा करके दिखाएगी. सविता रोहतक जिले के पिलाना गांव की रहने वाली है और माता-पिता खेती करते हैं, लेकिन गांव स्टेडियम से बहुत ज्यादा दूर होने के चलते सविता प्रैक्टिस करने के लिए अपने ताऊ के पास रोहतक शहर में ही रहती है. जब वह स्कूल विश्व चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए निकली थी. तभी उसने कह दिया था कि वह गोल्ड मेडल जीत कर ही लौटेगी. 

ये भी पढ़ें: Delhi Water Logging: कुछ घंटों की बारिश से दिल्ली-NCR की सड़के बनी तलाब, लंबे जाम से लोग परेशान

कोच मनदीप सैनी का कहना है कि सविता का यह है इस साल चौथा मैडल है. इसे लेकर के वह काफी खुश है क्योंकि वह उनके साथ प्रैक्टिस करती है और इस बार सबसे बड़ी बात जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में यह रही है कि अमेरिका और जापान को पीछे छोड़कर भारत ने ऊपर स्थान बनाया है. अब सविता का अगला लक्ष्य ओलंपिक में मेडल जीतना होगा. वहीं सविता के ताऊ कृष्ण कुमार का कहना है कि सविता ने मेहनत की और यह मेडल जीता है. वह काफी खुश है और जब वह वापस लौटेगी तो बड़ी धूमधाम से उसका स्वागत किया जाएगा.

सविता के साथ प्रैक्टिस करने वाली पहलवान का कहना है कि उसके साथ जब वह तैयारियां करती है तो बहुत कुछ सीखने को मिलता है. सविता बहुत अच्छी तरह से प्रैक्टिस करती है और उसने जो गोल्ड मेडल जीता है उसको लेकर वे काफी खुश हैं. उन्हें भी इस तरह की खिलाड़ी को देखकर मनोबल मिलता है.

Input: राज टाकिया 

Trending news