सुरजेवाला ने BJP पर साधा निशाना, प्री-मैट्रिक छात्रवृति योजना खत्म करने को बताया षडयंत्र
topStories0hindi1462837

सुरजेवाला ने BJP पर साधा निशाना, प्री-मैट्रिक छात्रवृति योजना खत्म करने को बताया षडयंत्र

 कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सांसद रणदीप सुरजेवाला ने की प्री मेट्रिक स्कीम खत्म करने पर उनकी प्रतिक्रिया सामने आई है. जिसमें उन्होंने BJP सरकार की गहरी निंदा की है.

सुरजेवाला ने BJP पर साधा निशाना, प्री-मैट्रिक छात्रवृति योजना खत्म करने को बताया षडयंत्र

नई दिल्ली: कक्षा एक से आठ तक प्री मेट्रिक स्कीम खत्म करने को लेकर कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता सांसद रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) की प्रतिक्रिया सामने आई है. जिसमें उन्होंने BJP सरकार की निंदा की है. वरिष्ठ नेता सुरजेवाला ने ट्वीट शेयर किया, जिसमें उन्होंने कहा, "कक्षा 1 से कक्षा 8 तक के लाखों SC-ST-OBC-अल्पसंख्यक बच्चों की प्री-मैट्रिक छात्रवृति योजना ख़त्म करना ग़रीब व शिक्षा पर भाजपाई कुठाराघात, देश इसे कभी मंज़ूर नहीं करेगा". 

ये भी पढ़ें:  हरियाणा में मिनिस्ट्रियल स्टाफ कर्मचारी प्रदर्शन कर विधायकों को सौपेंगे ज्ञापन, मांगे पूरी न होने पर उठा विवाद

 

Pre-Matric Schlorship Scheme हटाने को लेकर कांग्रसे नेता ने BJP पर सरकार पर साधा निशाना
बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही प्री मेट्रिक छात्रवृति योजना (Pre-Matric Schlorship Scheme) को खत्म कर दिया गया है. जिसको लेकर कांग्रेस के नेता रणदीप सुरजेवाला ने केंद्र सरकार के इस कहम को षडयंत्र बताया और कहा कि मोदी सरकार और भाजपाई ऐसा आठ सालों से करते आ रहे हैं. रणजीत सुरजेवाला ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि केंद्र सरकार ने कई गरीबों की योजना को रद्द किया है और अब गरीबों के बच्चों को शिक्षा से वंचित रखने की केंद्र सरकार योजना बना रही है. साथ ही सुरजेवाला ने सरकार को चेतावनी दे डाली कहा, "अगर इस फैसले को वापस नहीं लिया गयो तो हम सरकार की ईट से ईट बजा देंगे".

क्या है Pre Matric Scholarship?
हाई स्कूल से पहले यानी कक्षा 1 से 10वीं  के बच्चों को दी जाने वाली छात्रवृत्ति या स्कॉलरशिप को प्री मेट्रिक छात्रवृत्ति कहा जाता है . यह स्कॉलरशिप ऐसे गरीब अल्पसंख्यक छात्रों (scholarships for students) को दी जाती है जो आर्थिक रूप से कमजोर होते है. 

क्या है Pre Matric Scholarship का लक्ष्य? 
इस योजना के जरिये अल्पसंख्यक समुदायों से माता-पिता को अपने स्कूल जाने वाले बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रोत्साहित करता है. इससे स्कूल शिक्षा पर उनके वित्तीय बोझ को हल्का करने और स्कूल शिक्षा पूरी करने के लिए अपने बच्चों का समर्थन करने के अपने प्रयासों को बनाए रखने के लिए प्रोतसाहित करता है. 

Trending news