हमास ने लगाया समझौते के उल्लंघन का इल्जाम, बाईडन को बड़ी उम्मीद
trendingNow,recommendedStories0/zeesalaam/zeesalaam1979003

हमास ने लगाया समझौते के उल्लंघन का इल्जाम, बाईडन को बड़ी उम्मीद

Israel-Palestine Agreement: अमेरिका के राष्ट्रपति ने उम्मीद जताई है कि हमास ज्यादा अमेरिकी बंधकों को रहा करेगा. वहीं हमास का इल्जाम है कि समझौते का उल्लंघन हुआ है. उत्तरी गाजा में मदद नहीं पहुंच रही है.

हमास ने लगाया समझौते के उल्लंघन का इल्जाम, बाईडन को बड़ी उम्मीद

Israel-Palestine Agreement: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने गाजा में युद्धविराम के दूसरे दिन शनिवार को उम्मीद जताई कि हमास और इजराइल के बीच कैदियों और बंधकों की अदला-बदली के दूसरे चरण में कुछ और अमेरिकी बंधकों को रिहा किया जाएगा. व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने ऐलान किया कि बाइडेन ने लड़ाई में चार दिनों के विराम के लिए लगभग 50 बंधकों के बड़े समूह के हिस्से के रूप में दो अमेरिकी नागरिकों की रिहाई सुनिश्चित कर ली है. लेकिन मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि पहली खेप में अधिक अमेरिकियों को रिहा करने के बाइडेन के आश्‍वासन को हमास ने झुठला दिया है.

अमेरिका ने जताई उम्मीद
अमेरिकी सरकार के एक अधिकारी ने नाम जाहिर न करने की शर्त पर कहा, "हम इस प्रक्रिया के शुरुआती दौर में हैं कि समझौते के पहले चरण के दौरान कम से कम 50 महिलाओं और बच्चों को रिहा किया जाएगा." अधिकारी ने कहा, "हमें उम्मीद है कि इसमें तीन दोहरी राष्ट्रीय महिलाएं और बच्चे शामिल होंगे, जो अमेरिकी नागरिक हैं. यह आने वाले दिनों में सामने आएगा. हम व्यक्तिगत मामलों पर टिप्पणी नहीं करेंगे क्योंकि प्रक्रिया चल रही है."

बाइडेन ने बताई मंशा
राष्ट्रपति बाइडेन ने राष्ट्रीय स्तर पर टेलीविज़न संबोधन में कहा कि "हिंसा के इस चक्र को समाप्त करने में मदद करने के लिए एक स्वतंत्र फ़िलिस्तीनी राज्य की स्थापना की उनकी योजना युद्ध और इसकी भयावहता के अंत का एकमात्र व्यवहार्य समाधान थी. उन्होंने इजरायली बंधकों की रिहाई का स्वागत करते हुए कहा, "दो-राज्य समाधान को आगे बढ़ाने का हमारा संकल्प... अब पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है."

क्या है हमास का मंसूबा?
बाइडेन ने कहा, "आतंकवाद और हिंसा और हत्या और जंग के रास्ते पर चलते रहना हमास को वह देना है जो वे चाहते हैं, और हम ऐसा नहीं कर सकते." कतरी ऑपरेशन टीम शनिवार को तेल अवीव में उतरी, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि संघर्ष विराम समझौता सुचारू रूप से जारी रहे. एक राजनयिक ने बताया कि चार दिवसीय संघर्ष विराम की प्रगति की समीक्षा करते समय युद्धविराम और बंधक कैदियों की अदला-बदली पर विस्तार से चर्चा की जाएगी. 

हमास का इल्जाम
दूसरी ओर, हमास के एक अधिकारी ने कहा कि उत्तरी गाजा तक पर्याप्त सहायता नहीं पहुंच रही है. उन्‍होंने कहा कि इससे पूरे समझौते को खतरा हो सकता है. कुछ ही घंटों में इंटरनेशनल रेड क्रिसेंट ने कहा कि आज इस क्षेत्र में 61 ट्रक भेजे गए हैं, जो अब तक का "सबसे बड़ा" है. हमास के राजनीतिक ब्यूरो के सलाहकार ताहेर अल-नोनो ने कहा कि इजरायल ने संघर्ष विराम समझौते की प्रमुख शर्तों को "पूरी तरह से प्रतिबद्ध नहीं किया है", खास तौर से उत्तरी गाजा तक पहुंचने वाली सहायता की मात्रा के संबंध में. उन्होंने कहा, "इससे प्रक्रिया पूरी करने में वास्तविक जोखिम पैदा होता है." अल-नोनो के अनुसार, समझौते में कहा गया है कि मानवीय सहायता के साथ कम से कम 100 ट्रक गाजा में प्रवेश करेंगे, लेकिन अब तक बहुत कम ट्रक इसके उत्तरी हिस्से तक पहुंचे हैं.

Trending news