फिलिस्तीन में पकड़े गए दो इसराइली जासूस; लोगों ने दी खौफनाक सजा
trendingNow,recommendedStories0/zeesalaam/zeesalaam1979466

फिलिस्तीन में पकड़े गए दो इसराइली जासूस; लोगों ने दी खौफनाक सजा

West Bank: गाजा में हिंसा शुरू होने के बाद से वेस्ट बैंक में इसराइली गोलीबारी में 230 से ज्यादा फिलिस्तीनी मारे गए हैं. इस बीच फिलिस्तीन के वेस्ट बैंक में दो इसराइली एजेंट को पकड़ा गया है. दोनों यहां रिफ्यूजी कैंप में रह रहे थे. पूरी खबर पढ़ने के लिए नीचे स्क्रॉल करें. 

फिलिस्तीन में पकड़े गए दो इसराइली जासूस; लोगों ने दी खौफनाक सजा

West Bank: फिलिस्तीन के वेस्ट बैंक में दो इसराइली एजेंट को पकड़ा गया है. दोनों यहां रिफ्यूजी कैंप में रह रहे थे. लोगों ने शनिवार को उनकी पहलचान की और भीड़ ने उनको गोली मारकर कत्ल कर दिया है. वे दोनों फिलिस्तीनी नागरिक ही थे. इसके बाद उनके बॉडी को गलियों में घसीटा और खून से सने बॉडी को लात मारी और बिजली के खंभों से लटका दिया इस मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर तैर रह है. 

रिफ्यूजी कैंप में मारे गए थे फिलिस्तीन के तीन प्रमुख नेता

फिलिस्तीन के एक स्थानीय संगठन ने दो फिलिस्तीनियों पर पिछले दिनों तुलकेरेम रिफ्यूजी कैंप में इसराइली सैनिको की मदद करने का इल्जाम लगाया था. एक स्थानीय अधिकारी के मुताबिक, रिफ्यूजी कैंप में छापे में मकामी संगठन के तीन चीफ नेता मारे गए थे. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मारे गए लोगों की पहचान 32 साल हमजा मुबारक और 29 साल आजम जुआबरा के रूप में की गई है. वे कथित रूप से वेस्ट बैंक में इसराइल के लिए काम कर रहे थे. 

इसराइली गोलीबारी में इतने लोग मारे गए

गाजा में हिंसा शुरू होने के बाद से वेस्ट बैंक में इसराइली गोलीबारी में 230 से ज्यादा फिलिस्तीनी मारे गए हैं. फिलिस्तीनी अधिकारियों ने इसराइल पर इल्जाम लगाया है कि इसराइली सैनिक फिलिस्तीनियों को गिरफ्तार करने के लिए उत्तरी फिलिस्तीनी शहर कबातिया में छापेमारी की है. इस दौरान गोलीबारी में एक मकामी डॉक्टर शामेख अबू अल-रब की मौत हो गई.

एक फिलिस्तीनी अधिकारी ने क्या कहा?

एक फिस्तीनी अधिकारी ने कहा, "तुलकेरेम रिफ्यूजी कैंप में एक मकामी समूह ने दो फिलिस्तीनियों पर इसराइली सुरक्षा बलों को एक बड़े सैनिक हमले में संगठन को निशाना बनाने में मदद करने का इल्जाम लगाया था. जिसमें 6 नवंबर को उनके तीन चीफ नेता मारे गए थे." रिपोर्ट के मुताबिक, एक पुलिस अधिकारी ने नाम न बताने के शर्त पर कहा, "फिलिस्तीनी सुरक्षा बलों गको इस घटना के बारे में पहले जानकारी थी."

Zee Salaam Live TV

Trending news