पाकिस्तानी क्रिकेटर के साथ कमरे में पकड़ी गई थी नूरजहां, खिड़की से कूदने पर टूट गई थी हड्डी
topStorieshindi

पाकिस्तानी क्रिकेटर के साथ कमरे में पकड़ी गई थी नूरजहां, खिड़की से कूदने पर टूट गई थी हड्डी

Noor Jahan Singer: हिंदुस्तान और पाकिस्तान फिल्म इंडस्ट्री के लिए एक से बढ़कर एक गाने, गज़लें और गीत देने वाली दिग्गज गुलूकारा नूरजहां का आज जन्मदिन है. इस मौके पर हम आपको उनकी पर्सनल लाइफ का एक किस्सा बताने जा रहे हैं. उनकी पर्सनल लाइफ काफी चर्चा का मौजू रही है. पढ़ें पूरी स्टोरी

पाकिस्तानी क्रिकेटर के साथ कमरे में पकड़ी गई थी नूरजहां, खिड़की से कूदने पर टूट गई थी हड्डी

Singer Noor Jahan Birthday: लगभग चार दशक तक भारतीय और पाकिस्तानी सिनेमा पर राज करने वाली गायिका नूरजहां का आज जन्मदिन है. उन्होंने अपनी दिलकश आवाज़ से लोगों के दिलों में जगह बनाई. फिल्म इंडस्ट्री में उनके बेशकीमती योगदान की वजह से उन्हें मलिका-ए-तरन्नुम का खिताब भी दिया गया. नूरजहां ने तकरीबन 10 हजार के करीब हिंदुस्तानी और पाकिस्तानी फिल्म इंडस्ट्री के लिए गाने गाए. इनमें ना सिर्फ हिंदी, बल्कि, सिंधी, पंजाबी, बंगाली, पश्तो और अरबी भाषा में गाने गए हैं. 

क्या है असली नाम और कैसे बनीं 'नूरजहां'?
नूरजहां का जन्म 21 सितंबर 1924 को ब्रिटिश काल में कुसूर जगह (पाकिस्तानी पंजाब) पर हुआ था. नूर जहां का परिवारिक नाम अल्लाह वसई था. उनका परिवार म्यूजिक और गानों से जुड़ा हुआ था, इसलिए उनके परिवार ने उन्हें संगीत की तालीम हासिल करने के लिए एक उस्ताद के पास बैठा दिया था. जबकि नूरजहां को भी एक्टिंग करने का शौक था. उन्होंने कम उम्र में ही मंच पर एक्टिंग और सिंगिंग शुरू कर दी थी. बाद में वह अपनी बहनों के साथ कलकत्ता चली गईं और फिल्म पंजाब मेल में एक्टिंग और गाया. यह फिल्म 1935 में बनी थी. कलकत्ता में रहने के दौरान, उनकी मुलाकात इस वक्त की मशहूर गायिका मुख्तार बेगम से हुई. मुख्तार बेगम अल्लाह वसई को इतना पसंद करती थीं कि उन्होंने अल्लाह वसई का नाम बेबी नूरजहां रख दिया.

यह भी पढ़िए: घोड़ों की नाल ठोकते थे दिग्गज डायरेक्टर महबूब खान, नमाज पढ़ने की आदत ने बचाई थी नौकरी

"पाकिस्तानी क्रिकेटर से थे नाजायज संबंध"
नूर जहां की दो शादियां हुई थीं. उनकी पहली शादी 1942 में सौकत हुसैन रिजवी के साथ हुई थी. हालांकि यह शादी ज्यादा दिनों तक नहीं चल पाई. दोनों पति और पत्नी इतने परेशान हो गए थे कि साल 1953 में उनका तलाक हो गया था. शौकत हुसैन रिज़वी ने अपनी किताब "नूरजहां की कहानी मेरी जबानी" में बहुत विस्तार से इस बात का जिक्र किया है. उन्होंने नूर जहां पर आरोप लगाते हुए कहा था कि उनके कई लोगों के साथ नाजायज़ संबंध थे. इस किताब में उन्होंने पाकिस्तानी क्रिकेट खिलाड़ी नज़र मोहम्मद का भी जिक्र आता है. शौकत ने बताया कि उन्हें नूर जहां पर शक था लेकिन कोई सुबूत नहीं था जिसकी वजह से उन्होंने सबूत हासिल करने के लिए अपने नौकरों को अलर्ट कर दिया. 

"क्रिकेटर नजर मोहम्मद की टूट गई की हड्डी"
एक बार नूरजहां अपनी कार में नौकरानी के साथ नज़र मुहम्मद से मिलने गई तो नौकर ने उनको इस बारे में बताया. जिसके बाद शौकत ने नूरजहां का पीछा किया. नूरजहाँ एक घर में थी, उन्होंने जैसे ही दरवाज़ा खोला तो देखा कि नौकरानी नूरजहां को बताने के लिए ऊपर जा रही थी, लेकिन शौकत ने नौकरानी को पकड़ लिया और जैसे ही वो ऊपर पहुंचे तो देखा कि नूरजहां और नज़र मुहम्मद एक ही बिस्तर पर हुए थे. वो बताते हैं कि जैसे ही नजर ने मुझे देखा तो वो फौरन वहां कमरे की खिड़की से कूद गया. इस दौरान क्रिकेटर नजर की हड्डी भी टूट गई थी. इसके अलावा भी शौकत ने कई और लोगों के साथ उनके नजायज रिश्तों की बात कही थी. हालांकि नूरजहां का भी कुछ ऐसा ही कहना था कि उनके पति के दूसरी लड़कियों के साथ नाजायज संबंध हैं. 

 

Trending news