Himachal assembly election: हिमाचल में गरमाया चुनावी माहौल, प्रदेश में इस साल बदल सकता है राजनीतिक समीकरण
trendingNow,recommendedStories0/zeephh/zeephh1331543

Himachal assembly election: हिमाचल में गरमाया चुनावी माहौल, प्रदेश में इस साल बदल सकता है राजनीतिक समीकरण

हिमाचल प्रदेश में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में अभी से प्रदेश का चुनावी माहौल गरमाया हुआ है. पंजाब सीएम भगवंत मान और दिल्ली के उपमुखमंत्री मनीष सिसोदिया एक के बाद एक प्रदेश में दौरे कर रहे हैं और जनता को गारंटी की स्कीम बांट रहें हैं. इस बार तो कांग्रेस ने भी जल्दी से दस सूत्रिय संकल्प पत्र की घोषणा कर दी है.

Himachal assembly election: हिमाचल में गरमाया चुनावी माहौल, प्रदेश में इस साल बदल सकता है राजनीतिक समीकरण

संदीप सिंह/शिमला: हिमाचल प्रदेश में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव (Himchal assembly election 2022) होने हैं. ऐसे में अभी से प्रदेश का चुनावी माहौल गरमाया हुआ है. अभी तक हिमाचल की सत्ता पर धाक जमाने में महज दो पार्टियां ही सफल रही हैं पहली भाजपा (BJP)और दूसरी कांग्रेस (Congress). हालांकि दूसरी पार्टियों की ओर से कोशिश तो खूब की गई, लेकिन सफलता केवल कांग्रेस और बीजेपी के ही हाथ आई. या यू कहें कि दूसरी पार्टियां बीजेपी और कांग्रेंस का मोह जनता से भंग ही नहीं कर पाई. 

इस साल बदल सकता है राजनीतिक समीकरण
इस बार साल 2022 के विधानसभा चुनाव में चुनावी दंगल में आम आदमी पार्टी के कूदने से प्रदेश का सियासी पारा और राजनीतिक समीकरण भी बदलने वाला है. पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान और दिल्ली के उपमुखमंत्री मनीष सिसोदिया एक के बाद एक प्रदेश में दौरे कर रहे हैं और जनता को गारंटी की स्कीम बांट रहें हैं. इस बार तो कांग्रेस ने भी जल्दी से दस सूत्रिय संकल्प पत्र की घोषणा कर दी है.

बीजेपी और कांग्रेस का शुरू हुआ मंथन
हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला राजनीति का ऐपिक सेंटर है जहां इन दिनों कांग्रेस और भाजपा के दिग्गज नेताओं का महामंथन जारी है. शीर्ष नेतृत्व से लेकर प्रदेश की सक्रिय राजनीति के नेता हों या वरिष्ठ नेता सभी का मन टटोलने के बाद प्रदेश की 68 विधानसभा क्षेत्रों में विजय कैसे हांसिल हो इस पर मंथन किया जा रहा है. एक ओर बीजेपी 'मिशन रिपीट' के कठिन सफर पर निकली है. तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस गुटबाजी की बात को नकारते हुए सत्ता वापसी की राह तलाश रही है. दिल्ली और पंजाब में सता हासिल करने वाली आम आदमी पार्टी भी अब हिमाचल प्रदेश में सत्ता की दावेदारी ठोकने का राग अलाप रही है. लिहाजा प्रदेश में चुनावी माहौल पूरी तरह गरमाया हुआ है. 

बीजेपी रख रही फूक-फूक कर कदम
पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान और दिल्ली के उपमुख्मंत्री मनीष सिसोदिया प्रदेश में एक के बाद एक दौरे कर रहे हैं और जनता को गारंटी की स्कीम बांट रहें हैं. इस बार तो कांग्रेस ने भी जल्दी से दस सूत्रिय संकल्प पत्र की घोषणा कर दी है वो भी गारंटी के वादे के साथ. दोनों पार्टियों की गारंटी के वादे में मुफ्त की योजनाओं का अहम स्थान हैं. हालांकि सता में बैठी बीजेपी अपना एक-एक कदम फूक-फूक रख रही है. भाजपा हाईकमान से लेकर प्रदेश की कोर कमेटी में कई बार मंथन के बाद ऊपर से नीचे तक समितियां बन चुकी हैं.

ये भी पढ़ें- LIVE पंजाब हिमाचल समाचार 2 september 2022: पंचकुला के सेक्टर-9 स्थित रेहड़ी मार्केट में बीती रात लगी भीषण आग

बिना किसी फूट के उम्मीदवारों के चेहरे फाइनल होने पर जोर
सूत्रों की मानें तो भाजपा 'मिशन रीपीट' के लिए तमाम विधानसभा क्षेत्र से प्रबल दावेदार फाइनल हों इसके लिए जमीनी सर्वे करवा रही है. यानी सर्वे में किसी नेता का ग्राफ नीचे रहा तो टिकट कट भी सकता है. हालांकि बिना किसी फूट के ही उम्मीदवारों के चेहरे फाइनल हों इस पर भी तमाम पार्टियों में खूब माथापच्ची हो रही है, लेकिन कांग्रेस ने इस बार प्रदेश की तमाम विधानसभा से टिकट के इच्छुक उम्मीदवारों की दावेदारी मांगी है. 

पूरे हुए आवेदन
हिमाचल कांग्रेस में टिकट के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. अभी तक कुल 1 हजार 347 आवेदन हुए हैं, जिनमें 677 ऑनलाइन और 670 ऑफलाइन आवेदन किए गए हैं. 5 सितंबर को टिकट स्क्रूटनी के लिए बैठक होगी, जिसके बाद अगर सब ठीक रहा तो इस बार कांग्रेस अपने प्रत्याशियों की फाइनल लिस्ट जारी कर देगी.

WATCH LIVE TV

Trending news