कांग्रेस नेता की "डर्टी पॉलिटिक्स": कुंभ मेले पर सवाल

कांग्रेस पार्टी का दोहरा चरित्र एक बार फिर सामने आ चुका है. कांग्रेस नेता उदित राज ने कुंभ मेले पर सवाल उठाए है. कहा- सरकारी खर्च पर कुंभ मेले का आयोजन क्यों?  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Oct 15, 2020, 02:30 PM IST
  • कांग्रेस पार्टी की एक और 'गंदी सोच'
  • 'सरकारी पैसे पर कुंभ मेला क्यों?'
  • कांग्रेस नेता उदित राज के सवाल
कांग्रेस नेता की "डर्टी पॉलिटिक्स": कुंभ मेले पर सवाल

नई दिल्ली: कांग्रेस का चरित्र एक बार फिर सामने आ चुका है, हिन्दू आस्था के अपमान की कांग्रेसी मंशा जगजाहिर हो चुकी है. क्योंकि कांग्रेस नेता उदित राज ने कुंभ मेला को लेकर सवाल उठाए हैं. ऐसा पहली बार नहीं है जब कांग्रेसी नेता ने आस्था पर चोट करने की कोशिश की है. राम मंदिर से लेकर हर मौके पर कांग्रेसी नेताओं ने अपनी गंदी सोचा का प्रदर्शन किया है.

कुंभ मेले पर कांग्रेस नेता के सवाल

कांग्रेस नेता उदित राज ने कुंभ मेले पर सवाल उठाए है. उदित राज ने कहा है कि सरकार को किसी भी धार्मिक गतिविधि में शामिल नहीं होना चाहिए. उदित राज ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार को कुंभ मेले के आयोजन पर खर्च नहीं करना चाहिए. उदित राज ने पूछा कि सरकारी खर्च पर कुंभ मेले का आयोजन क्यों कराया गया? यूपी सरकार ने कुंभ मेले पर 4 हज़ार 200 करोड़ रुपये क्यों खर्च किए? सरकारी पैसे से किसी भी धर्म की पढ़ाई नहीं की जानी चाहिए.

उदित राज ने कहा कि "सरकारी पैसे से किसी धर्म की पढ़ाई नही की जाना चाहिए और न धार्मिक करम कांड हों. सरकार का कोई धर्म नहीं होना चाहिए. इलाहबाद के कुंभ मेला में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा 4200 करोड़ का खर्च भी नही करना चाहिए था."

कुंभ मेले पर भाजपा VS कांग्रेस

उदित राज ने अपनी सोच का प्रदर्शन किया तो, भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पार्टी को जोरदार फटकार लगाते हुए सवाल खड़ा किया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि "मित्रों ये है गांधी परिवार की सच्चाई.. पहले affidavit दे कर SC में कहा था “भगवान श्री राम मात्र काल्पनिक है. उनका कोई अस्तित्व नहीं” और अब प्रियंका वाड्रा जी का कहना है की कुंभ मेला भी बंद होना चाहिए!! तभी तो दुनिया कहती है राहुल और प्रियंका “सुविधा-वादी” हिंदू है!!"

संबित पात्रा ने सवाल उठाए तो कांग्रेस नेता उदित राज ने दलील पेश करते हुए कहा कि "मैंने वही कहा जो आपके नेता हेमंत सरमा ने बोला. उन्होंने कहा धर्म को सरकारी खर्च पर प्रोत्साहित नहीं करना चाहिए. इसपे डॉ. अम्बेडकर का विचार दिमाग में आया और उसे प्रस्तुत किया कि धर्म-राजनीति का मिश्रण नहीं होना चाहिए. नहीं मालूम था आपकी गिद्ध नजर वोट के लिए उन्माद फैलाने की कोशिश करेगी."

हिंदू आस्था के अपमान पर ZEE मीडिया के 7 सवाल

पहला सवाल- हिंदुओं की आस्था पर बार बार कांग्रेस की चोट क्यों?

दूसरा सवाल- करोड़ों हिंदुओं की आस्था के सबसे बड़े प्रतीक का अपमान क्यों?

तीसरा सवाल- कट्टरता फैलाने वाले मदरसों की तुलना कुंभ से क्यों?

चौथा सवाल- मदरसों पर असम सरकार के फैसले से बौखलाई कांग्रेस?

पांचवां सवाल- असम में मदरसों को बंद करने के फैसले को सहन नहीं कर पाई कांग्रेस?

छठा सवाल- कुंभ के अपमान पर राहुल-सोनिया खामोश क्यों?

सातवां सवाल- 'जनेऊधारी' राहुल गांधी कुंभ के अपमान पर उदित राज पर एक्शन लेंगे?

मदरसे पर चुप्पी और कुंभ पर सवाल

सवाल तो ये भी है कि कांग्रेस पार्टी कब तक हिंदू आस्था का अपमान करेगी? मदरसे पर कांग्रेस नेताओं की जुबान पर का ताला जड़ जाता है. मदरसे पर चुप्पी साधने वाले 'उदित अधर्म' कुंभ पर सवाल खड़ा करते हैं. मुखौटों से आस्था का अपमान कब तक होगा? कुंभ पर उदित राज ने सवाल उठाया, लेकिन सोनिया-राहुल खामोश है. आखिर ऐसा क्यों? कांग्रेस का दोहरा चरित्र बार-बार सामने आता है. इस बार भी कुछ ऐसा ही देखने को मिल रहा है.

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप, जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-

Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=en_IN

iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़