उत्तराखंडः क्यों हैरान लालकृष्ण आडवाणी ने हरीश रावत को कहा था चाय पर आने को

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता हरीश रावत ने बताया कि एक बार लालकृष्ण आडवाणी ने हैरान होकर उन्हें चाय पर आने के लिए कहा था. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Feb 21, 2022, 06:17 PM IST
  • उत्तराखंड में 14 फरवरी को हुआ था मतदान
  • 10 मार्च को आएगा विधानसभा चुनाव का रिजल्ट

ट्रेंडिंग तस्वीरें

उत्तराखंडः क्यों हैरान लालकृष्ण आडवाणी ने हरीश रावत को कहा था चाय पर आने को

नई दिल्लीः उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिए 14 फरवरी को मतदान हो चुका है. अब 10 मार्च को चुनाव परिणाम आएगा. लेकिन, इससे पहले ही कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं. पूर्व सीएम और कांग्रेस के प्रचार अभियान के प्रमुख हरीश रावत का दावा है कि कांग्रेस कम से कम 45 से 48 सीटें हासिल करेगी.

उन्होंने इस चुनाव की तुलना साल 2002 में हुए चुनाव से की और कहा कि तब हमारी जीत से तत्कालीन उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी हैरान हो गए थे. बकौल हरीश रावत, 'आडवाणी ने मुझे एक बार कहा कि आप चाय पर आइये और यह बताइए कि आपने चुनाव कैसे जीता ?' 

हरीश रावत 2002 में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष थे और कई लोग तब कांग्रेस की जीत को लेकर आश्वस्त नहीं थे.

'बीजेपी के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर ज्यादा'
हरीश रावत ने पहले विधानसभा चुनाव (2002) की तुलना करते हुए सोमवार को दावा किया कि इस बार भाजपा के खिलाफ ज्यादा मजबूत सत्ता विरोधी लहर के चलते कांग्रेस कम से कम 45 से 48 सीटें प्राप्त करेगी. रावत ने कहा, 'अगर 2002 और 2022 के विधानसभा चुनावों की तुलना करें तो हम इस बार ज्यादा अच्छी स्थिति में हैं. वर्ष 2002 में हमने चुनाव अपनी पॉजिटिविटी (सकारात्मकता) पर जीता था जबकि उस वक्त भाजपा सरकार के खिलाफ एंटी इनकंबेंसी (सत्ता विरोधी) भी कम थी.' 

इस संबंध में उन्होंने कहा, ' 2022 के चुनाव में कांग्रेस में पॉजिटिविटी तो ज्यादा है ही लेकिन 2002 के मुकाबले भाजपा के खिलाफ इस बार सत्ता विरोधी लहर अधिक है. इसलिए हम आश्वस्त हैं कि हम इस बार 45—48 सीटें जीतकर सरकार बना लेंगे.' 

रावत के नेतृत्व में लड़ा गया था 2002 का चुनाव
हरीश रावत ने कहा कि 2002 में कांग्रेस की जीत को लेकर सभी संशय में थे, लेकिन वह स्वयं इस बात को लेकर बिल्कुल आश्वस्त थे कि पार्टी कम से कम 40 सीटें जरूर जीतेगी. वर्ष 2002 के चुनाव में कांग्रेस ने 36 सीटें जीतकर पूर्ण बहुमत से सरकार बनाई थी. उस समय रावत प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष थे और उनकी अगुवाई में चुनाव लड़ा गया था. 

उन्होंने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने जब अपनी चुनाव रैलियों में खासकर बागेश्वर में जबरदस्त उमड़ी भीड़ को देखा तो उन्होंने भी उनकी बात को स्वीकार किया था कि कांग्रेस प्रदेश में सरकार बनाने जा रही है. 

2012 विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने राज्य में सरकार बनाई. तब वह बहुमत के जादुई आंकड़े से चार सीटें पीछे रह गई और उसे निर्दलीयों का सहयोग लेना पड़ा. वर्ष 2012 विधानसभा चुनाव के समय प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल आर्य थे.

यह भी पढ़िएः इस राज्य के छात्रों को टैबलेट खरीदने के लिए मिलेंगे 12 हजार रुपये, जानिए खाते में कब आएगा पैसा

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़