उदयपुर के एमबी अस्पताल से बच्चा चोरी, औलाद नहीं होने से परेशान होकर बनाई थी योजना, 4 दिन बाद पुलिस ने किया बरामद
Advertisement

उदयपुर के एमबी अस्पताल से बच्चा चोरी, औलाद नहीं होने से परेशान होकर बनाई थी योजना, 4 दिन बाद पुलिस ने किया बरामद

Child stolen from MB Hospital Udaipur : उदयपुर संभाग के सबसे बड़े महाराणा भूपाल चिकित्सालय से चोरी हुई 13 माह की बच्ची को पुलिस ने दस्तयाब कर लिया. पुलिस ने बच्ची को चुराने के आरोप में मंजू नाम की एक महिला को गिरफ्तार किया है.

उदयपुर अस्पताल से बच्चा चोरी.

Child stolen from MB Hospital Udaipur : उदयपुर संभाग के सबसे बड़े महाराणा भूपाल चिकित्सालय से चोरी हुई 13 माह की बच्ची को पुलिस ने दस्तयाब कर लिया. पुलिस ने बच्ची को चुराने के आरोप में मंजू नाम की एक महिला को गिरफ्तार किया है.

मामले का खुलासा करते हुए उदयपुर जिला पुलिस अधीक्षक योगेश गोयल ने बताया कि आरोपी महिला को पकड़ने के लिए जिला पुलिस की स्पेशल टीम और हाथीपोल थाना पुलिस की टीम ने 300 से अधिक सीसीटीवी कैमरे को खंगाला. जांच में सामने आया कि महिला कोर्ट चौराहे पर एक गार्ड से मिली थी.

इसकी आधार पर पुलिस ने अपने अनुसंधान को आगे बढ़ाया और महिला के बारे में जानकारी जुटाई. मामले की कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए पुलिस आखिर कार महिला तक पहुंच गई. पुलिस ने आरोपी महिला मंजू को चीरवा गांव में रहने वाले रोशन के घर से गिरफ्तार किया.

पुलिस की प्रारंभिक पूछताछ में महिला ने बताया कि पति के मौत के बाद वह रौशन के साथ रही थी, लेकिन रौशन से आपसी अनबन के बाद वह पिछले दो-तीन महीना से वह एमबी अस्पताल में ही रह रही थी. बच्चा नहीं होने से वह परेशान थी.

ये भी पढ़ें- Rajasthan : एक ही घर में धर्मान्तरण को लेकर पति-पत्नी के बीच 'महाभारत', बच्चों को ईसाई बनाने के लिए पढ़ाई जा रही थी बाइबिल, हनुमान चालीसा के कारण छोड़ा घर

ऐसे में उसने बच्चे को चुराने की योजना बनाई और मौका मिलने पर वह बच्चे को चुरा कर फरार हो गई. वही मंजू के गिरफ्तार होने के बाद पुलिस ने दस्तयाब बच्ची को उसके माता-पिता को सौंप दिया है. वहीं पुलिस अब मामले में रोशन की भूमिका की भी जांच कर रही है. वहीं बच्ची के मिलने के बाद परिवार के लोग काफी खुश नजर आए और उन्होंने उदयपुर पुलिस का आभार जताया.

 

Trending news