Nathdwara: कलेक्टर ने गौशालाओं का लिया जायजा, दिए विशेष दिशा-निर्देश
topStoriesrajasthan

Nathdwara: कलेक्टर ने गौशालाओं का लिया जायजा, दिए विशेष दिशा-निर्देश

Nathdwara: गायों में फैल रहे लंपी वायरस नामक संक्रमण ने पूरे राजस्थान में पैर-पसार रखा है. इस संक्रमण पर कंट्रोल पाने के लिए राज्य सरकार और राजसमंद प्रशासन और सामाजिक संगठन हर संभव प्रयास कर रहे है. 

Nathdwara: कलेक्टर ने गौशालाओं का लिया जायजा, दिए विशेष दिशा-निर्देश

Nathdwara: गायों में फैल रहे लंपी वायरस नामक संक्रमण ने पूरे राजस्थान में पैर-पसार रखा है. इस संक्रमण पर कंट्रोल पाने के लिए राज्य सरकार और राजसमंद प्रशासन और सामाजिक संगठन हर संभव प्रयास कर रहे है. 

बता दें कि राजसमंद कलेक्टर नीलाभ सक्सेना टीम के साथ गांव और गौशालाओं का दौरा कर रहे है और लंपी वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए संबंधित अधिकारी विशेष दिशा-निर्देश दे रहे है, जिसके बाद से जिले का चिकित्सा विभाग पूरी तरह से मॉनिटरिंग में लगा हुआ है और जिला प्रशासन द्वारा इस संक्रमण से बचाव और समय-समय पर जागरूक भी किया जा रहा है. 

इसी के तहत राजसमंद कलेक्टर निलाभ सक्सेना बामणिया कला स्थित गौशाला पहुंचे, जहां पर उन्होंने लंपी डिजिज से ग्रसित पशुओं का निरीक्षण कर जानकारी ली और निरीक्षण के दौरान पशुओं के आईसोलेशन करने गौशाला प्रतिनिधियों को मृत पशुओं को वैज्ञानिक विधि से निस्तारण करने और मौके पर मौजूद पशु चिकित्सक डॉ. धर्मेश भारद्वाज को इस बारे में विस्तार से आवश्यक निर्देश दिए. 

वहीं गायों को इस संक्रमण से बचाने के लिए समाजिक संगठन भी पीछे नहीं है. बता दें कि राजसमंद जिले का भारत गरुकुल सेवा संस्थान मुंडोल आगे आया है और गायों को इस संक्रमण से बचाने लिए लड्डू बना रहे है. बता दें कि मुंडोल गांव में एक क्विंटल लड्डू गायों के खिला चुके हैं, जिसके परिणाम अच्छे रहे है. 

इसी के चलते फिर से ये आयुर्वेदिक लड्डू बनाए गए हैं और शहर में वितरित किए जा रहे है. वहीं राज्य सरकार के त्रिस्तरीय जनसुनवाई कर आमजन के प्रकरणों का निस्तारण और राहत देने के लिए जिलेभर में उपखंड स्तरीय जनसुनवाई का आयोजन किया गया. इसी क्रम में राजसमंद कलेक्टर नीलाभ सक्सेना ने जिले के रेलमगरा में आयोजित जनसुनवाई और विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भाग लेकर जनसुनवाई की और मौके पर तीन प्रकरणों का निस्तारण किया है. 

इस अवसर पर पंचायत, एवीएनएल और पीएचईडी के तीन प्रकरणों का मौके पर निस्तारण कर आमजन को राहत प्रदान की गई. इसके साथ ही उन्होंने जनसुनवाई में कुल आए 20 प्रकरणों के निस्तारण कर राहत देने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिए. इस अवसर पर उपखंड के सभी आला अधिकारी मौजूद रहे. उन्होंने इस अवसर पर राजकीय महाविधालय रेलमगरा के निर्माणाधीन कार्य का निरीक्षण किया और डीएमफटी मद से बन रहे इस भवन के लिये उपस्थित सहायक अभियंता जितेन्द्र टांक और संवेदक आदि को गुणवत्तापूर्ण कार्य के लिए निर्देश दिए. 

यह भी पढ़ें - राजस्थान में लंपी स्किन से 45 हजार से ज्यादा गायों की मौत, 10 लाख से ज्यादा संक्रमित, बीजेपी का गहलोत सरकार पर हमला

राजसमंद के किसानों का आर्थिक अंदाज बदलने के लिए और राजसमंद को सब्जी उत्पादन में अग्रणी बनाने के लिए विधानसभा अध्यक्ष और नाथद्वारा के विधायक सीपी जोशी की पहल से राजसमंद के किसानों हेतू डीएमएफटी वित्तपोषित उन्नत कृषि प्रोत्साहन योजना के तहत जून माह में मिर्च की फसल बोई गयी थी. रेलमगरा उपखण्ड क्षेत्र के किसानों की मिर्ची की फसल अब लदकने लगी है और यहां के किसानों ने उसका उत्पादन लेना प्रारंभ कर दिया है. उसी मिर्ची की फसल का कलेक्टर नीलाभ सक्सेना ने अवलोकन किया. 

रेलमगरा उपखंड के माडपिया ग्राम के शंकरलाल कुमावत के खेत पर लगी मिर्च की फसल देखी और फसल के सभी पहलुओं पर किसान से खेत पर ही जायजा लिया. किसान ने बताया कि समय-समय पर कृषि विभाग और उपखंड प्रशासन के प्रभावी संबलन से मिर्च की फसल बढिया हुई है. अब इस फसल को वह मंडी में 40-45 रुपये प्रति किलो से बेचना प्रारंभ किया है. जनवरी माह तक इसकी तोडाई होगी और लगभग प्रतिबीघा 1 लाख तक की आमदनी होने की संभावना है.

राजसमंद की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

खबरें और भी हैं...

जयपुर में लंपी स्किन संक्रमित गायों के लिए मोर्चरी बन रहा पुरानी गोशाला का क्वारेंटाइन सेंटर

Lumpy skin disease: गायों की सेवा में एकजुट हुए लोग, भीनमाल में बना आइसोलेशन सेंटर

पश्चिमी राजस्थान से पूर्वी राजस्थान पहुंचा लंपी स्किन संक्रमण, अलर्ट मोड में सरकार, वैक्सीनेशन पर जोर- कटारिया

Trending news