मंत्री हेमाराम चौधरी ने चुनाव लड़ने से किया इनकार, चौधरी के पांवो में पगड़ी रख रो पड़ी गुड़ामालानी की जनता
trendingNow,recommendedStories1/india/rajasthan/rajasthan1918720

मंत्री हेमाराम चौधरी ने चुनाव लड़ने से किया इनकार, चौधरी के पांवो में पगड़ी रख रो पड़ी गुड़ामालानी की जनता

राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों के नेता जयपुर व दिल्ली में डेरा डालकर लगातार टिकट के लिए मिन्नतें करते नजर आ रहे हैं वहीं दूसरी तरफ बाड़मेर जिले की गुड़ामालानी से विधायक व मंत्री हेमाराम चौधरी ने अब चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है जिसके बाद गुड़ामालानी

मंत्री हेमाराम चौधरी ने चुनाव लड़ने से किया इनकार, चौधरी के पांवो में पगड़ी रख रो पड़ी गुड़ामालानी की जनता

Gudamalani Hemaram Choudhary: राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों के नेता जयपुर व दिल्ली में डेरा डालकर लगातार टिकट के लिए मिन्नतें करते नजर आ रहे हैं वहीं दूसरी तरफ बाड़मेर जिले की गुड़ामालानी से विधायक व मंत्री हेमाराम चौधरी ने अब चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है जिसके बाद गुड़ामालानी के लोगों ने चुनाव लड़ने के लिए मनाने के लिए अपने सिर की पगड़ी उतार कर उनके पांवों रख दी. और लोग पांव पड़कर रोने लग गए.

बाड़मेर जिले के गुड़ामालानी से छठी बार कांग्रेसी विधायक हेमाराम चौधरी ने इस बार चुनाव लड़ने के लिए दावेदारी पेश नहीं की है और पार्टी आला कमान को चुनाव लड़ने से मना कर दिया है. जब यह बात गुड़ामालानी की जनता को पता चली तो गुड़ामालानी की जनता ने हजारों की संख्या में भीड़ इकट्ठा हो गई और हेमाराम चौधरी को आखिरी बार चुनाव लड़ने का आग्रह किया लेकिन हेमाराम चौधरी ने कहा कि मैं पिछले 10 साल पहले ही चुनाव लड़ने से इनकार कर चुका हूं लेकिन एक बार पार्टी के आदेश पर चुनाव लड़ा और दूसरी बार गुड़ामालानी की जनता के कहने पर चुनाव लड़ा और विधायक बना और पिछले 45 सालों से लगातार गुड़ामालानी की जनता की सेवा कर रहा हूं मैने आठ बार चुनाव लड़ चुका हूं. अब मेरी उम्र हो गई है और राजनीति में युवाओं को मौका देना चाहिए.

हेमाराम चौधरी ने जी मीडिया से खास बातचीत करते हुए कहा कि मेरी उम्र भी हो गई है और भी कई कारण है जिसके चलते मैं अब चुनाव नहीं लड़ना चाहता. पिछले पांच सालों में मैंने विधायक व मंत्री के रूप में काम किया लेकिन मैं मेरे कार्यों से खुद संतुष्ट नहीं हूं और जितना जानता कि मेरे से अपेक्षाएं थीं उतना मैं काम नहीं कर पाया. हेमाराम चौधरी ने कहा कि वर्तमान राजनीति के दौर से मुझे घृणा हो गई है. इसलिए मै चुनाव नही लड़ना चाहता हूं. और पार्टी जिसको चुनाव लड़ना चाहती है उन्हें टिकट देकर चुनाव लड़ाये मुझे कोई परेशानी नहीं है.

ये भी पढ़िए

पथरी होने पर इस पौधे का पत्ता करेगा जादुई असर,बचेगा ऑपरेशन का खर्चा! 

जानिए, कितनी है पाकिस्तान के पीएम की सैलरी, मिलती हैं ये धाकड़ सुविधाएं

Trending news