trendingPhotos,recommendedPhotos/india/rajasthan/rajasthan2002344
photoDetails1rajasthan

रामलला के मंदिर की शान बढ़ाएगा भरतपुर का बलुआ पत्थर, बढ़ेगा राजस्थानी गौरव

Ram Mandir News: अयोध्या में निर्मित राम मंदिर में राजस्थान के बलुआ पत्थर का उपयोग किया जा रहा है, जो कि बयाना के बंसी पहाड़पुर खनन क्षेत्र से भेजा जा रहा है. 

कई स्थानों से पत्थर और अन्य सामग्री का उपयोग

1/4
कई स्थानों से पत्थर और अन्य सामग्री का उपयोग

इसके साथ ही अयोध्या में निर्मित राम मंदिर में राजस्थान के कई स्थानों से पत्थर और अन्य सामग्री का उपयोग किया जा रहा है. तो वहीं राजस्थान कई जगहो के प्रसिद्ध कारीगर भी राम मंदिर के निर्माण में अपना सहयोग दें रहे है. 

बादामी रंग के बलुआ पत्थर का इस्तेमाल

2/4
बादामी रंग के बलुआ पत्थर का इस्तेमाल

मंदिर के प्रत्यक्ष भाग के सतह के ऊपर बादामी रंग के बलुआ पत्थर का इस्तेमाल किया जा रहा है. आपको बता दें कि सह बलुआ पत्थर राजस्थान के भरतपुर क्षेत्र का प्रसिद्ध पत्थर है. 

बादामी रंग के कारण काफी विख्यात है

3/4
बादामी रंग के कारण काफी विख्यात है

यह बलुआ पत्थर अपने बादामी रंग के कारण काफी विख्यात है और यह बलुआ पत्थर राजस्थान में बंसी पाल सेंडस्टोन के नाम से मशहूर है. 

बयाना के बंसी पहाड़पुर खनन क्षेत्र से अयोध्या भेजा जा रहा

4/4
बयाना के बंसी पहाड़पुर खनन क्षेत्र से अयोध्या भेजा जा रहा

बंसी पाल सेंडस्टोन बयाना के बंसी पहाड़पुर खनन क्षेत्र से अयोध्या में निर्मित रामलला की मंदिर के लिए भेजा जा रहा है. जो कि भरतपुर के लिए बड़े गर्व की बात मानी जा रही है, जिस पर पूरे देश में विख्यात कारीगरों के द्वारा भव्य नक्काशी किया जा रहा है.