लंपी बीमारी से तड़प रही गौमाता का रुदन राजस्थान सरकार के पतन का कारण बनेगा: BJP
topStoriesrajasthan

लंपी बीमारी से तड़प रही गौमाता का रुदन राजस्थान सरकार के पतन का कारण बनेगा: BJP

खींवसर ने राजीव गांधी खेल ओलंपिक पर चुटकी लेते हुए कहा की, सरकार की भी यह गजब की योजना है जहां आपको नापसंद होते हुए भी राजीव गांधी के और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थन में नारे लगाने पड़ेंगे अन्यथा पुलिस आपको पकड़ लेगी".

लंपी बीमारी से तड़प रही गौमाता का रुदन राजस्थान सरकार के पतन का कारण बनेगा: BJP

Kheenvsar: भाजपा नेता और नागौर क्रिकेट एसोसिएशन अध्यक्ष धनजंय सिह खींवसर गुरुवार को क्षेत्र के जोरावरपुरा, संखवास, गोलियासनी, खूडखुडा और कडलु में ग्रामीणों से मिले. इस दौरान खींवसर ने कहा कि मारवाड़ की पूज्य धरा जहां लोकदेवता वीर तेजाजी महाराज ने गौरक्षा और पाबूजी ने भावनाओं पर कर्त्तव्य को प्राथमिकता देते हुए गौमाता रक्षार्थ अपने अपना बलिदान दे दिया था. 

गौमाता पर नहीं किया खर्च
खींवसर की धरा पर तो परम गौरक्षक लोकदेवता हड़बुजी ने गौमाता की सेवा में अपना जीवन समर्पित कर दिया था, यहां आज भी उनकी गाड़ी की पूजा होती है जिसमें उन्होंने जीवन पर्यंत लाचार गौमाता की सेवा की है और इसी खींवसर में गौमाता की इस दुर्दशा के बावजूद क्षेत्र से नदारद रहा प्रत्येक जिम्मेदार पाप का भागीदार बन चुका है. धनंजय सिंह ने सरकार पर भी हमला बोलते हुए कहा कि सरकार ने अपनी छवि चमकाने के पूरी प्रशासनिक क्षमता के साथ करोड़ों रुपये मात्र खेल खिलाने में खर्च कर दिया है, इसका एक चौथाई भी गौमाता का खर्च कर देते तो शायद गौमाता को इस बुरे दौर से गुजरना नहीं पड़ता.

यह भी पढे़ं- आपकी मुट्ठी में है आपके प्रमोशन का तरीका, ऑफिस में आजमाएं ये आसान उपाय

खींवसर ने राजीव गांधी खेल ओलंपिक पर चुटकी लेते हुए कहा की, सरकार की भी यह गजब की योजना है जहां आपको नापसंद होते हुए भी राजीव गांधी के और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थन में नारे लगाने पड़ेंगे अन्यथा पुलिस आपको पकड़ लेगी". उन्होंने कहा इस ओलंपिक खेल के माध्यम से सरकार सिर्फ अपनी छवि सुधारने का निरर्थक प्रयास कर रहीं है, इसका खेल से कोई लेना देना नहीं है, यह ओलंपिक खेल मात्र राजनीतिक अखाड़ा बन चुका है.

अलग- अलग जगह से खेल-खेल में लड़ाई की खबर आना, अव्यवस्था के चलते खेल के चक्कर में द्वेष फैलना और राजनीतिक भेदभाव होना इसकी विफलता का परिचायक है. बेवजह की वाहवाही लूटने वाले मुख्यमंत्री इस खेल को एक बड़ी सफलता बता रहें है बल्कि स्थिति इससे पूर्ण विपरीत है, मैं मुख्यमंत्री से कहना चाहूंगा कि गुजरात में 10 सालों से चले आ रहें खेल महोत्सव को देखें और उससे प्रेरणा लेकर इसे सुव्यवस्थित आयोजित करें अन्यथा इसका कोई मतलब नहीं. दौरे के दौरान धनंजय सिंह विभिन्न शोक सभाओं में सम्मिलित हुए और स्थानीय लोगों से मुलाकात की उन्होंने लंपी बीमारी से गोवंश को बचाने में हर संभव सहयोग का विश्वास दिलाया. उन्होंने बताया की उनकी स्वयंसेवी संस्थान गत 3 माह से क्षेत्र में गौसेवा का कार्य कर रहीं है उन्होंने इस अभियान में सहयोग करने वाले सभी का धन्यवाद करते किया.

गोवंश को मतदान का अधिकार नहीं इसलिए उसकी ओर सरकार का ध्यान नहीं
उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा की सरकार के लिए गोवंश केवल सरकारी आंकड़े बनकर रह गया है, राजस्थान सरकार की मंशा को देखकर ऐसा लगता है कि सरकार किसी भी कार्य को करने के पीछे उसकी राजनीतिक लाभ को देखती है तभी तो गौमाता को दरकिनार कर ओलंपिक करवाने में पूरे प्रशासन को झोंक रखा है. गोवंश को बचाने में उन्हें कोई राजनीतिक लाभ नजर नहीं आ रहा है, क्योंकि गोवंश को मतदान का अधिकार नहीं है. भले ही गोवंश को मत देने का अधिकार ना हो लेकिन उनकी पीड़ा और रुदन राज्य सरकार की पतन का कारण अवश्य बनेगा. 

आज भी खींवसर के दौरे पर रहेंगे धनंजय सिंह 
धनंजय सिंह खींवसर के निजी सचिव आशु सिंह ने बताया कि 16 सितंबर को धनंजय सिंह ईशरनावड़ा, खटोड़ा, साठिका, पांचौड़ी, करणू, भुन्डेल के दौरे पर रहेंगे और विभिन्न शोक सभा में सम्मिलित होंगे.

Reporter - Damodar Inaniyan

नागौर की खबरों के लिए यहां क्लिक करें.

यह भी पढे़ं- बीवी नहीं मिली तो बाइक पर बैल को बिठाकर घूम रहा युवक, वीडियो देख यकीन करना मुश्किल

यह भी पढे़ं- Chanakya Niti: भरी महफिल में महिलाएं हमेशा नोटिस करती हैं पुरुषों की ये आदतें, नहीं चलने देती किसी को पता

Trending news