Advertisement
photoDetails1rajasthan

Mahashivratri 2024: कब है इस साल महाशिवरात्रि? जानें पूजा का शुभ मुहूर्त

Mahashivratri 2024: महाशिवरात्रि का हिंदू धर्म में काफी महत्व है, होली से पहले फाल्गुन कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि मनाई जाती है. इसके अलावा श्रावण मास में शिवरात्रि का त्योहार मनाया जाता है. महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की विशेष पूजा और आराधना की जाती है. साथ ही इस दिन महादेव का विशेष अभिषेक किया जाता है. कहा जाता है भगवान शिव की पूजा निशीथ काल में की जाती है. ऐसे में जानिए इस साल यानी 2024 में महाशिवरात्रि का पर्व कब मनाया जाएगा. 

 

क्यों मनाई जाती है महाशिवरात्रि?

1/5
क्यों मनाई जाती है महाशिवरात्रि?

पौराणिक कथाओं के अनुसार, महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव और माता पार्वती का मिलन हुआ था. कहा जाता है कि फाल्गुन चतुर्दशी तिथि के दिन शिवजी ने वैराग्य छोड़कर माता पार्वती संग शादी करके गृहस्थ जीवन में प्रवेश किया था. इसी वजह से इस दिन को महाशिवरात्रि के रूप में मनाया जाता है. इसके अलावा महाशिवरात्रि के दिन ही सभी द्वादश ज्योतिर्लिंग प्रकट हुए थे. 

कैसे मनाई जाती है महाशिवरात्रि?

2/5
कैसे मनाई जाती है महाशिवरात्रि?

महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव के भक्त शिव जी की बारात निकालते हैं. साथ ही इस दिन व्रत, पूजा और जलाभिषेक करने से शादीशुदा से जुड़ी सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं. साथ ही कुवांरी लड़कियों को मनपसंद जीवनसाथी मिलता है. 

महाशिवरात्रि कब है?

3/5
महाशिवरात्रि कब है?

महाशिवरात्रि की पूजा रात में की जाती है. कहा जाता है कि भगवान शिव की पूजा निशीथ काल में की जाती है. निशीथ काल रात को 12 बजे से 3 बजे तक का समय होता है. साल 2024 में महाशिवरात्रि 08 मार्च 2024 को मनाई जाएगी. 

महाशिवरात्रि पूजा का शुभ मुहूर्त

4/5
महाशिवरात्रि पूजा का शुभ मुहूर्त

महाशिवरात्रि के पर्व की शुरुआत 8 मार्च को संध्याकाल 09 बजकर 57 मिनट पर होगी, जिसका समापन अगले दिन 09 मार्च को संध्याकाल 06 बजकर 17 मिनट पर होगा. ऐसे में महाशिवरात्रि का व्रत 8 मार्च 2024 को रखें. पूजा का शुभ मुहूर्त शाम के समय 06 बजकर 25 मिनट से 09 बजकर 28 मिनट तक है. 

जानिए शिवरात्रि और महाशिवरात्रि में अंत

5/5
जानिए शिवरात्रि और महाशिवरात्रि में अंत

हर महीने की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को शिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है, जिसे मासिक शिवरात्रि कहा जाता है. ऐसे में हर साल 12 शिवरात्रियां होती हैं. इसके अलावा फाल्गुन माह में आने वाली शिवरात्रि को महाशिवरात्रि का त्योहार मनाया जाता है. बाकी सब शिवरात्रियों में इसका सबसे ज्यादा महत्व होता है. 

(डिस्क्लेमर- ये लेख सामान्य जानकारी पर आधारित है, जिसकी ज़ी मीडिया पुष्टि नहीं करता है )