लंपी के कहर के बीच चूरू में गौ भक्तों का दिखा आक्रोश, व्यापारियों ने बंद रखी दुकाने
topStoriesrajasthan

लंपी के कहर के बीच चूरू में गौ भक्तों का दिखा आक्रोश, व्यापारियों ने बंद रखी दुकाने

Churu: लंपी के कहर के बीच चूरू में गौ भक्तों का आक्रोश देखने को मिला. व्यापारियों ने दुकाने भी बंद रखी.

लंपी के कहर के बीच चूरू में गौ भक्तों का दिखा आक्रोश, व्यापारियों ने बंद रखी दुकाने

Churu: देश में गोवंश में फैली लंपी वायरस में केंद्र और राज्य सरकार की विफलता के खिलाफ गुरुवार को गो भक्तों का गुस्सा सड़कों पर देखने को मिला. लंपी वायरस की रोकथाम के लिए किए गए राजस्थान बंद के आह्वान के तहत सरदारशहर में भी बंद का जबरदस्त असर देखने को मिला. व्यापारियों ने स्वतः ही अपने प्रतिष्ठान बंद रख कर बंद का समर्थन किया. सभी गौ भक्तों ने कच्चा बस स्टैंड से रेलवे स्टेशन तक रैली निकालकर गौ माता का स्थाई इलाज करवाने की मांग की.

इस दौरान गो भक्तों ने मुख्य बाजार में जमकर प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. गौ-भक्त कुंदन पारीक ने बताया कि केंद्र और राज्य सरकार दोनों ही इस महामारी में कोई काम नहीं कर रही है जबकि दोनों ही पार्टिया गौ माता का नारा लगाकर जनता से वोट लेकर सता हासिल कर लेती है. देश के कई राज्यों में लंपी वायरस का कहर देखने को मिल रहा है. राजस्थान को भी इस संक्रमण ने पूरे तरह से जकड़ लिया है. यहां लंपी वायरस से अब तक 50 हजार से ज्यादा गायों की मौत हो चुकी है.

सरकार की लापरवाही से बिगड़े हालात

देश के कई राज्यों सहित राजस्थान में बीते करीब दो महीने से गायों में लंपी डिसीज अपना कहर बरपा रहा है. जिसके चलते हजारों की तादाद में गोवंश की मौत हो गई है. गो भक्तों ने बताया की गायों के लिए प्राण घातक साबित हो रही. राजस्थान की गहलोत सरकार हो या केंद्र की मोदी सरकार, शुरुआत में इस बीमारी पर किसी ने ध्यान नहीं दिया, नतीजा ये हुआ कि जो गाय देश की राजनीति में सबसे ज्यादा प्रभाव रखती हैं और गाय के नाम पर देश में सरकार बनती है, वो ही पार्टियां आज चुनाव नहीं है तो इन गायों की सुध नहीं ले रही हैं, गाय को मरने के लिए छोड़ दिया है. इस मौके पर शहर के सभी गौ संगठनों व गौ संघटन से जुड़े हुए लोग प्रदर्शन में शामिल रहे. इस दौरान शहर के कच्चा बस स्टैंड से लेकर रेलवे स्टेशन तक बड़ी संख्या में गौ भक्तों ने मुख्य बाजार से होते हुए गौ माता का नारा लगाते हुए बाजार को बंद करवाया तथा लंपी पीड़ित गोवंश की सहायता में आगे आने का आह्वान किया.

विधानसभा घेराव की चेतावनी

इसके अलावा जल्द ही सरकार की ओर से लंपी वायरस को रोकने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए जाने पर विधानसभा घेराव का भी गो भक्तों की ओर से आह्वान किया गया. गो भक्तों के प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस जाब्ता भी तैनात रहा. वहीं शहर के मुख्य बाजार शिव मार्केट रोडवेज बस स्टैंड कच्चा बस स्टैंड रेलवे स्टेशन लेडीस मार्केट अपना बाजार सहित सभी बाजार के व्यापारियों ने स्वतः ही समर्थन देकर बाजार बंद का समर्थन किया. आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी दुकाने बंद नजर आई. इस अवसर पर संदीप सोनी, मुकेश देरासरी, गोविंद सोनी, उमाशंकर शर्मा, विनोद राव, राकेश जाट, कमल जाट, रोहिताश जोगी, मुकेश जैसनसरिया सहित बड़ी संख्या में गौ भक्तों ने रैली निकालकर सरकार के खिलाफ आक्रोश व्यक्त किया.

Reporter - Gopal Kanwar

चूरू जिले की खबरों के लिए यहां क्लिक करें. 

ये भी पढ़े- दौसा में बोरवेल में गिरी डेढ़ साल की मासूम बच्ची, 150 फीट की गहराई पर फंसी, ऑक्सीजन देने का काम जारी

ये भी पढ़े- जैसलमेर में मटकी से पानी पीने पर दलित युवक पर फायरिंग, आई गहरी चोटें

 

Trending news