Vishwakarma Yojana में इतना पैसा देगी सरकार, देखिए कैसे करते हैं अप्लाई
trendingNow,recommendedStories1/india/madhya-pradesh-chhattisgarh/madhyapradesh1877127

Vishwakarma Yojana में इतना पैसा देगी सरकार, देखिए कैसे करते हैं अप्लाई

Vishwakarma Yojana: 17 सितंबर को प्रधानमंत्री ने विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर पीएम विश्वकर्मा योजना लॉन्च की. इस योजना के तहत 3 लाख तक का लोन काफी कम ब्याज दर पर मिल सकता है. कैसे आवेदन करना है और किसे कितना तक पैसा मिलता है, यहां पढ़िए सब कुछ-

Vishwakarma Yojana में इतना पैसा देगी सरकार, देखिए कैसे करते हैं अप्लाई

PM Vishwakarma Scheme: प्रधानमंत्री ने 15 अगस्त (15th August)को लाल किले से ऐलान किया था कि 17 सितंबर को वो विश्वकर्मा योजना (PM Vishwakarma Scheme) लॉन्च करेंगे. इसे पूरा करते हुए विश्वकर्मा जयंती (Vishwakarma Jayanti)पर भारत सरकार ने इस महत्वाकांक्षी योजना को शुरू किया. इस योजना से 140 समुदाय को फायदा मिलेगा. इस योजना से संबंधित सारी जानकारी यहां पढ़िए जैसे इस योजना के लिए कैसे आवेदन किया जा सकता है, किसे इसका फायदा मिलेगा, कितना पैसा मिलेगा और कौन से कागज इसके लिए जमा करने होते हैं. 

पीएम विश्वकर्मा योजना के लाभार्थी

कुम्हार, अस्त्रकार, बुनकर, मछवारे, पारंपरिक खिलौना बनाने वाले, नाई, मालाकार,धोबी, दर्जी, ताला बनाने वाले, बढ़ई, लोहार, सुनार, राजमिस्त्री, मूर्तिकार, मोची, पत्थर तराशने वाले आदि को बायोमेट्रिक आधारित पीएम विश्वकर्मा पोर्टल का इस्तेमाल करके कॉमन सर्विस सेंटर के जरिए फ्री में रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया की जाएगी.

इस योजना के लिए पात्रता

1.भारत का नागरिक
2.विश्वकर्मा समुदाय से
3.उम्र-18 वर्ष से 50 साल तक
4.मान्यता प्राप्त संस्थान का कौशल प्रमाण पत्र 
5.सरकारी सेवा में कार्यरत लोग इसके अंतर्गत शामिल नहीं होंगे.

इस योजना के लिए अनिवार्य दस्तावेज

1. पैन कार्ड
2. आधार कार्ड
3. आय प्रमाण पत्र
4. जाति प्रमाण पत्र
5. निवास प्रमाण पत्र
6. राशन कार्ड
7. पहचान पत्र 

इस योजना का मुख्य उद्देश्य

इस स्कीम से सीधा लाभ देश के 30 लाख से ज्यादा पारंपरिक कारीगरों को मिलेगा. इस स्कीम का मुख्य उद्देश्य देश के शिल्पकारों और कारीगरों को विकास की मुख्यधारा के साथ जोड़ना है. सरकार इस योजना के तहत लाभार्थियों को 15 हजार रुपये टूलकिट प्रोत्साहन भी प्रदान करेगी. इस योजना के लागू होने से  देश में स्वरोजगार क्षेत्र में उन्नति देखने को मिलेगी. इसके तहत कारीगरों और शिल्पकारों को ट्रेनिंग भी दी जाएगी.

Trending news