सोनीपत से भेजे गए सिरप बने अफ्रीकी बच्चों की मौत की वजह? कंपनी पर लटकी कार्रवाई की तलवार
topStories0hindi1383163

सोनीपत से भेजे गए सिरप बने अफ्रीकी बच्चों की मौत की वजह? कंपनी पर लटकी कार्रवाई की तलवार

हरियाणा की मैडन फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड कंपनी की ओर से बने सिरप की सप्लाई अफ्रीकी देश गाम्बिया में भी की जाती है. हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा है कि प्रयोगशाला की जांच में यदि कुछ भी गलत पाया गया तो बहुत ही सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

सोनीपत से भेजे गए सिरप बने अफ्रीकी बच्चों की मौत की वजह? कंपनी पर लटकी कार्रवाई की तलवार

चंडीगढ़ : अफ्रीकी देश गाम्बिया में बीते दिनों 66 बच्चों की मौत के बाद WHO ने भारत की जिस मैडन फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड कंपनी को उनके चार कफ और कोल्ड सिरप को लेकर अलर्ट जारी किया है, वह हरियाणा के सोनीपत जिले में स्थित है.

जिन चार सिरप पर सवाल खड़े हो रहे हैं, उनमें प्रोमेथाजिन ओरल सॉल्यूशन, कोफेक्समालिन बेबी कफ सिरप, मैकॉफ बेबी कफ सिरप और मैग्रीप एन कोल्ड सिरप शामिल हैं. WHO की एक रिपोर्ट के मुताबिक प्रयोगशाला में हुई जांच के दौरान इन सभी सैंपल में डायथिलीन ग्लाइकॉल और एथिलीन ग्लाइकॉल की जरूरत से ज्यादा मात्रा गई है.

ये भी पढ़ें : सिरसा के SP को बीच रात फोन कर जगाया, गृहमंत्री ने कहा- मैं अनिल विज बोल रहा हूं

इस मुद्दे पर हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज गंभीर नजर आए. सोनीपत की एक ड्रग कंपनी से गाम्बिया में सप्लाई की गई दवाई पीने से 66 बच्चों की मौत मामले में उन्होंने कहा कि हमने इस मामले में तुरंत संज्ञान और निर्णय लिया है कि कंपनी पर कोई कार्रवाई करने से पहले इस दवाई के सैंपल केंद्रीय ड्रग लैबोरेटरी, कोलकाता भेजे गए हैं. रिपोर्ट आने के बाद यदि कुछ गलत हुआ होगा तो बहुत ही सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

विज आज मीडियाकर्मियों द्वारा सोनीपत स्थित मैडन फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड की ओर से कफ एंड कोल्ड सिरप के कारण गाम्बिया में हुई बच्चों की मौत के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे. हरियाणा में बने कफ एंड कोल्ड सिरप की सप्लाई अफ्रीकी देश गाम्बिया में भी की जाती है.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के अधिकारी पूरी जानकारी ले रहे हैं. केंद्र सरकार के स्वास्थ्य सचिव ने आज सुबह ही राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग के सचिव से बातचीत की है और यह निर्णय लिया गया है कि कंपनी पर कोई कार्रवाई से पहले इसके सैंपल चैक करवाए जाएं. 

 

Trending news