हरियाणा के इस जिले में हर साल लगता है हजारों प्रवासी पक्षियों का मेला, देखने लायक नजारा
topStories0hindi1472024

हरियाणा के इस जिले में हर साल लगता है हजारों प्रवासी पक्षियों का मेला, देखने लायक नजारा

जैसे-जैसे सर्दी बढ़ेगी वैसे-वैसे दूसरे देशों से आए इन पक्षियों की संख्या बढेगी. हजारों की संख्या में ये पक्षी जींद के कालवन के तालाब पर आए हुए है जो लोगों के मन को मोह रहे है और जिनकी चहचहाहट कानों में संगीत बनकर लोगों का मन मोह रहे है. 

हरियाणा के इस जिले में हर साल लगता है हजारों प्रवासी पक्षियों का मेला, देखने लायक नजारा

राजकुमार गोयल/जींद: हरियाणा के जींद में कई देशों से आए हजारों सुन्दर-सुन्दर पक्षियों ने डेरा डाल लिया है. इन पक्षियों की चहचहाहट संगीत बनकर लोगों का मन मोह रही है. साइबेरिया, भूटान, चीन, नेपाल और यूरोप से ये प्रवासी परिंदे आए है. जींद की कालवन की तालाबों की झील में इन प्रवासी परिंदों का मेला देखने को मिल रहा है. दूसरे देशों में सर्दी ज्यादा होने की वजह से ये प्रवासी पक्षी अपने देश में हर साल यूही डेरा डालते है.

वन्य प्राणी विभाग के इंस्पेक्टर मनबीर का कहना कि जैसे-जैसे सर्दी बढ़ेगी वैसे-वैसे दूसरे देशों से आए इन पक्षियों की संख्या और बढेगी. पंखो और रंगों से ही यह पहचान होती है कि ये पक्षी दूसरे देशों के है. हजारों की संख्या में ये पक्षी जींद के कालवन के तालाब पर आए हुए है जो लोगों के मन को मोह रहे है और जिनकी चहचहाहट कानों में संगीत बनकर लोगों का मन मोह रहे है. इस बार ही नहीं पिछले कई सालों से ये पक्षी विदेशों से इधर आ रहे है.

अब यह विचार किया जा रहा है कि यहां इस एरिया को टूरिस्ट एरिये के रूप मे विकसित किया जाए. अगर गांव की पंचायत तैयार होती है तो इस बारे में कदम आगे बढ़ाया जाएगा. अधर गांव के लोग भी प्रवासी परिंदों के इस डेरे से काफी खुश नजर आ रहे है. गांव के लोगों का कहना है कि वे बड़े खुश किस्मत वाले है कि उनके कई देशों से आए पक्षियों का ये नजारा देखने को मिल रहा है. उन्हें कितना बढ़िया एनवायरमेंट मिला है प्रकृति का. वे चाहते है कि यहां इन पक्षियों के लिए अच्छी व्यवस्था बने. उनकी मांग है कि यहा टूरिस्ट एरिया भी बनाया जाए ताकि यहा दूसरे शहरों से लोग पक्षियों को देखने आए.

Trending news