Mukesh Sahni: निषादों में बजरंगबली जैसी ताकत, बस उसे पहचानने की जरूरत: मुकेश सहनी
trendingNow,recommendedStories0/india/bihar-jharkhand/bihar1987815

Mukesh Sahni: निषादों में बजरंगबली जैसी ताकत, बस उसे पहचानने की जरूरत: मुकेश सहनी

Mukesh Sahni: विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के प्रमुख मुकेश सहनी निषाद आरक्षण को लेकर लगातार अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं. इसी कड़ी में वो झारखंड के गढ़वा और बिहार के रोहतास जिला पहुंचे.

Mukesh Sahni: निषादों में बजरंगबली जैसी ताकत, बस उसे पहचानने की जरूरत: मुकेश सहनी

पटना: Mukesh Sahni: विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मंत्री मुकेश सहनी अपने दौरे के तीसरे दिन आज झारखंड के गढ़वा और बिहार के रोहतास जिला पहुंचे. इस दौरे में हो रही जनसभा में लोगों का हुजूम जुट रहा है. रैली को संबोधित करते हुए सहनी न केवल युवाओं में जोश भर रहे हैं बल्कि उन्हें एकजुट रहने की अपील भी कर रहे. रैली में उमड़ रही भीड़ में शामिल लोगों को आने वाली पीढ़ी के उज्जवल भविष्य के लिए पढ़ाने तथा अधिकारों के लिए संघर्ष करने का हाथ में गंगाजल लेकर संकल्प भी करवा रहे हैं.

मुकेश सहनी आज गढ़वा के रजई विजयी मैदान और रोहतास के सूर्य मंदिर मैदान, अमियावर में बड़ी जनसभा को संबोधित किया. गढ़वा में हजारों की उमड़ी भीड़ को संबोधित सहनी ने कहा कि बिहार और झारखंड पहले एक ही था. उन्होंने जोर देकर कहा कि निषाद किसी भी राज्य के हो मेरे लिए निषाद कोई जाति नहीं मेरा परिवार है. उन्होंने साफ लहजे में कहा कि आज अगर हमे बेटे, बेटियों की शादी करनी होगी तो इसी समाज के लड़के और लड़की लाएंगे. उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए सहनी ने साफ तौर पर कहा कि बिहार, यूपी और झारखंड के निषादों का आरक्षण हक है. उन्होंने कहा कि जब दिल्ली और पश्चिम बंगाल में निषाद को आरक्षण मिल रहा है तो इन राज्यों में क्यों नहीं, जबकि देश के पीएम एक हैं और संविधान एक है.

उन्होंने कहा कि आज राजा के घर राजा पैदा नहीं होता बल्कि बाबा साहेब ने लोकतंत्र में ऐसी शक्ति दी है जिसके पास ज्यादा वोट होगा वही राजा बनेगा. उन्होंने कहा कि निषादों के पास बजरंगबली जैसी शक्ति है, बस उसको जानने की जरूरत है. सहनी ने लोगों को संकल्प दिलाते हुए कहा कि आरक्षण दिल्ली में बैठे लोगों की देन है. लेकिन वे यहां के निषादों के साथ न्याय नहीं कर रहे हैं. उन्होंने केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि जो हमारी बात नहीं सुनेगा उसकी बात हम भी नहीं सुनेंगे.

ये भी पढ़ें- KK Pathak: बिहार के स्कूलों में मिशन दक्ष शुरू, जानें इसको लेकर क्या है केके पाठक का आदेश

 

Trending news