Gyani Anupama Bihar Board Success Story: ज्ञानी अनुपमा तो वाकई ज्ञानी निकली, पूरे प्रदेश में हासिल किया दूसरा स्थान
trendingNow,recommendedStories0/india/bihar-jharkhand/bihar1634081

Gyani Anupama Bihar Board Success Story: ज्ञानी अनुपमा तो वाकई ज्ञानी निकली, पूरे प्रदेश में हासिल किया दूसरा स्थान

बिहार बोर्ड 10वीं का रिजल्ट जारी कर दिया गया है, जिसमें शेखपुरा के मोहम्मद रुमान अशरफ टाॅपर आए हैं तो औरंगाबाद की ज्ञानी अनुपमा दूसरे स्थान पर रही हैं. इससे एक बात फिर से साबित हो गई है कि औरंगाबाद में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है.

 (फाइल फोटो)

Patna: बिहार बोर्ड 10वीं का रिजल्ट जारी कर दिया गया है, जिसमें शेखपुरा के मोहम्मद रुमान अशरफ टाॅपर आए हैं तो औरंगाबाद की ज्ञानी अनुपमा दूसरे स्थान पर रही हैं. इससे एक बात फिर से साबित हो गई है कि औरंगाबाद में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है. ज्ञानी अनुपमा ने न केवल अपने जिले का नाम पूरे राज्य में रोशन किया है, बल्कि अपने नाम के आगे जो ज्ञानी लगा है, उसे भी चरितार्थ किया है. ज्ञानी अनुपमा की इस उपलब्धि से पूरे जिले को अनुपमा पर गर्व हो रहा है. अनुपमा के घर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है. दूसरी ओर, प्रदेश में दूसरे नंबर पर आने से ज्ञानी अनुपमा भी खुशी से फुली नहीं समा रही है. 

गोह स्थित प्रोजेक्ट गर्ल्स हाई स्कूल की छात्रा अनुपमा को कुल 486 अंक प्राप्त हुए हैं. अनुपमा की इस सफलता से पूरे इलाके में जश्न का माहौल है. लोग एक-दूसरे को मिठाइयां खिला कर जश्न मना रहे हैं।. बिटिया अनुपमा के पिता शैलेन्द्र गुप्ता एक रोजगार सेवक हैं, जो फिलहाल रफीगंज प्रखंड में पदस्थापित हैं. वहीं माता सोनी गुप्ता एक गृहिणी हैं. अपनी बेटी की इस सफलता से अनुपमा के माता पिता बेहद खुश हैं. माता और पिता का कहना है कि यह सब अनुपमा की खुद की मेहनत का नतीजा है.

बिहार बोर्ड की ओर से रिजल्ट जारी करने के साथ ही यह भी घोषणा की गई है कि पहले स्थान पर आने वाले को एक लाख रुपये, एक लैपटॉप और एक किंडल ई बुक रीडर के अलावा मेडल, दूसरे स्थान पर आने वालों को 75,000 रुपये, एक-एक लैपटॉप और एक किंडल ई बुक रीडर के अलावा मेडल, तीसरे स्थान पर आने वालों को 50,000 रुपये, एक-एक लैपटॉप और किंडल ई बुक रीडर और मेडल दिया जाएगा. जबकि फोर्थ पर आने वालों को 10,000 रुपये, एक-एक लैपटॉप और एक किंडल ई बुक रीडर और मेडल प्रदान किया जाएगा.

 

शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने रिजल्ट जारी करते हुए कहा, लगातार पांचवीं बार पूरे देश में बिहार बोर्ड ने सबसे पहले परीक्षा कराकर सबसे पहले रिजल्ट भी जारी कर दिया. उन्होंने कहा कि छात्राओं का रिजल्ट लगातार बेहतर हो रहा है और इससे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का महिला सशक्तिकरण का सपना पूरा हो रहा है. उन्होंने कहा, पिछले साल 79.11 प्रतिशत रिजल्ट आया था तो इस बार 81.4 प्रतिशत रिजल्ट आया है. शिक्षा मंत्री ने उत्तीर्ण परीक्षार्थियों को बधाई दी और यह भी कहा कि जो बच्चे इस बार पास नहीं कर पाए, उनको परेशान होने की जरूरत नहीं है. उनके लिए 30 अप्रैल से कंपार्टमेंटल का फाॅर्म भरवाया जाएगा.

Trending news