Himachal Pradesh के घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में तलाशी जा रहीं पर्यटन की अपार संभावनाएं
trendingNow,recommendedStories0/zeephh/zeephh2003857

Himachal Pradesh के घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में तलाशी जा रहीं पर्यटन की अपार संभावनाएं

Himachal Pradesh News: घुमारवीं से कांग्रेस विधायक राजेश धर्माणी ने 11 दिसंबर को भाजपा की रोष रैली पर निशाना साधा. साथ ही जनता द्वारा भाजपा को नकारते हुए कांग्रेस की सरकार बनाने व पूर्व भाजपा सरकार में 12 हजार स्कूलों में अध्यापक के पद खाली होने व 119 कॉलेजों में प्रिंसिपल ना होने का आरोप लगाया. 

 

Himachal Pradesh के घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में तलाशी जा रहीं पर्यटन की अपार संभावनाएं

विजय भारद्वाज/बिलासपुर: हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व वाली सरकार का एक साल का कार्यकाल पूरा होने जा रहा है, जिसे लेकर 11 दिसंबर को धर्मशाला पुलिस ग्राउंड में व्यवस्था परिवर्तन के एक साल के नाम से विशाल रैली का आयोजन किया जाना है. एक ओर जहां कांग्रेस पार्टी के नेता इस एक वर्ष के कार्यकाल को जश्न के रूप में मना रहे हैं, वहीं, दूसरी तरफ हिमाचल भाजपा प्रदेशभर में रोष रैली निकालकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेगी. 

भाजपा द्वारा आयोजित रोष रैली पर निशाना साधते हुए घुमारवीं से कांग्रेस विधायक राजेश धर्माणी ने जनता द्वारा भाजपा को नकारते हुए प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाने की बात कही, वहीं विधायक राजेश धर्माणी ने आरोप लगाते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश में जब कांग्रेस की सरकार बनी थी उस समय प्रदेश में करीब 12 हजार स्कूलों में अध्यापकों के पद खाली थे, जबकि 152 कॉलेजों में से 119 कॉलेजों में प्रिंसिपल के पद खाली थे, जिससे यह साफ होता है कि पूर्व भाजपा सरकार में केवल स्कूल और कॉलेज खोलने के ही काम हुए थे, लेकिन उनमें शिक्षा संबंधी सुविधाओं का अभाव देखने को मिला था, इसलिए वर्तमान कांग्रेस सरकार ने अभी तक पूर्व भाजपा सरकार की खामियों को ही दूर करने का काम किया है. 

ये भी पढ़ें- हिमाचल प्रदेश में कल ट्रैवल करने में हो सकती है परेशानी, जानें क्या है ट्रैफिक प्लान

वहीं, विधायक राजेश धर्माणी ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार के एक वर्ष के कार्यकाल में घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में विकास कार्यों को नई रफ्तार मिलने की बात कही है. राजेश धर्माणी ने कहा कि बीते एक साल में घुमारवीं क्षेत्र में आई प्राकृतिक आपदा से लोगों का काफी नुकसान हुआ था. इसके बावजूद जनता को परेशानी से निकालने के लिए सरकार द्वारा ना केवल युद्ध स्तर पर काम किया गया, बल्कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के नेतृत्व में कई नई योजनाएं शुरू की गई हैं, जिसका आने वाले समय में फायदा होगा और कांग्रेस सरकार ने जो भी गारंटियां चुनाव के समय में दी थीं उन्हें पांच साल के कार्यकाल में चरणबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा. 

वहीं, विधायक राजेश धर्माणी ने कहा कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू व प्रदेश सरकार के 2025 तक ग्रीन स्टेट मिशन को साकार करने के लिए एक नई पहल घुमारवीं से शुरू की गई है, जिसमें अब किसी भी कार्यक्रम में मुख्य अतिथि को किसी प्रकार का कोई स्मृति चिन्ह या मोमेंटो नहीं दिया जाएगा, बल्कि उसकी जगह एक इंडोर प्लांट और आउटडोर प्लांट भेंट किया जाएगा, जिससे वह पर्यावरण को भी स्वच्छ रखे और हरियाली के प्रति लोगों को जागरूक करे.

ये भी पढे़ें- खेतों का कप्तान 'ड्रोन' पहुंचा बिलासपुर, किसानों को दे रहा महत्वपूर्ण जानकारी

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि घुमरवीं क्षेत्र में पर्यटन की अपार संभावनाएं तलाश की जा रही हैं. इसके लिए जहां पनोह से लेकर त्यून और सरयून किलों तक पार्क बनाने की योजना पर कार्य किया जा रहा है. साथ ही इन किलों का जीर्णोद्धार करने के लिए चार करोड़ की राशि भी स्वीकृत की गई है. इसके अलावा प्रदेश सरकार अगले दस साल की योजना बनाकर कार्य कर रही है ताकि घुमारवीं को एक आदर्श क्षेत्र बनाया जा सके.

WATCH LIVE TV

Trending news