Bilaspur News: बिलासपुर में धोखाधड़ी मामले में निजी कंपनी सहर्ष निधि के विरुद्ध लोगों ने उठाई कार्रवाई की मांग
trendingNow,recommendedStories0/zeephh/zeephh1982908

Bilaspur News: बिलासपुर में धोखाधड़ी मामले में निजी कंपनी सहर्ष निधि के विरुद्ध लोगों ने उठाई कार्रवाई की मांग

Bilaspur News in Hindi: ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी के मामले में निजी कंपनी सहर्ष निधि के विरुद्ध कार्रवाई की पीड़ित स्थानीय लोगों ने सीएम सुक्खू से मांग उठाई है. जानें क्या है पूरा मामला.  

Bilaspur News: बिलासपुर में धोखाधड़ी मामले में निजी कंपनी सहर्ष निधि के विरुद्ध लोगों ने उठाई कार्रवाई की मांग

Bilaspur News: ग्राहकों के साथ धोखाधड़ी करने के मामले को लेकर ठगी का शिकार हुए लोगों ने जाली क्रिप्टोकरेंसी की तर्ज पर संबंधित एक निजी कंपनी सहर्ष निधि लिमिटेड के विरुद्ध कार्रवाई के प्रति मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से मांग की है. 

गौरतलब है निजी कंपनी सहर्ष निधि लिमिटेड के द्वारा लोगों की जमा पूंजी की समयावधि पूरा होने के उपरांत वापस नहीं करने का मामला प्रतिदिन तूल पकड़ता जा रहा है. संबंधित निजी कंपनी ने हिमाचल प्रदेश में बैंक की तर्ज पर 23 शाखाएं खोल रखी थी, जिनमें से 21 शाखाओं में ग्राहकों का करोड़ों रुपये जमाकर अब बंद कर दी गई है जबकि बिलासपुर व हमीरपुर में कंपनी की शाखाएं अभी भी खुली हुई हैं. 

वहीं लोगों ने अधिक ब्याज के झांसे में आकर अपने खून पसीने की कमाई इस कंपनी में जमा कर रखी थी. साथ ही लोगों ने जो आरडी व एफडी करवाई थी उनकी समय अवधि पूर्ण होने के उपरांत कंपनी प्रबंधन ने अपने ग्राहकों को चेक आवंटित किए, लेकिन कंपनी के खाते में पैसे नहीं होने के कारण अधिकतर चेक बाउंस हो गए, तब जाकर ग्राहकों को पता चला कि वह ठगी का शिकार हो चुके हैं. 

हिमाचल के कांगड़ा में इस बार बढ़ा चाय का उत्पादन, लेकिन खरीददारों में दिखीं कमी

वहीं लोगों ने इकट्ठे होकर पुलिस थाना घुमारवीं में कंपनी प्रबंधन के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है. वहीं आज बिलासपुर में भी संबंधित कंपनी के ग्राहकों ने सिटी पुलिस चौकी बिलासपुर में कंपनी प्रबंधन पर धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज करवाया है. इस मामले की जानकारी देते हुए डीएसपी बिलासपुर मदन धीमान ने कहा कि लोगों की शिकायत के आधार पर सहर्ष निधि प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के खिलाफ मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है और जांच में अगर ग्राहकों के साथ किसी तरह का कोई फ्रॉड होना पाया जाता है तो कंपनी प्रबंधन के खिलाफ उचित कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.

Trending news