30 हजार एकड़ खेतों में जलभराव, समस्या का समाधान नहीं किया तो अधिकारी होंगे सस्पेंड- कृषि मंत्री
topStories0hindi1473018

30 हजार एकड़ खेतों में जलभराव, समस्या का समाधान नहीं किया तो अधिकारी होंगे सस्पेंड- कृषि मंत्री

हरियाणा के खेतों में बारिश की वजह से पानी जमा है. इसको लेकर प्रदेश के कृषि मंत्री ने संबंधी अधिकारी को जल्द से खोतों में से पानी की निकासी के आदेश दिए हैं. 

30 हजार एकड़ खेतों में जलभराव, समस्या का समाधान नहीं किया तो अधिकारी होंगे सस्पेंड- कृषि मंत्री

नई दिल्ली: हरियाणा के खेतों में बारिश की वजह से पानी जमा है. कृषि मंत्री (Agriculture Minister) ने दौरा करने पर गलत रिपोर्ट दे दी कि पानी की निकासी हो चुकी है. दौरा करने के बाद उन्हें पता चला कि खेतों में पानी जमा है. गेंहू की फसल की बिजाई दिसंबर के शुरू में हो सकती है, लेकिन इसे और अफसरों की लापरवाही को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि गेंहू की बिजाई नहीं हो पाएगी. कृषि मंत्री जेपी दलाल (J.P. Dalal) ने बताया कि जलभराव की स्थिति को लेकर उनके अधिकारियों के साथ मीटिंग हुई है, हरियाणा में 30000 एकड़ में अभी भी पानी भरा हुआ है.

मंत्री ने अधिकारियों को  4 दिन के अंदर खेतों के पानी को निकालने के निर्देश दिए हैं और दौरे की रिपोर्ट में हकीकत सामने आने के बाद उन्होंने अधिकारियों को झाड़ लगाई. साथ ही संबंधी अधिकारियों को सूचित किया गया है कि वो पानी निकाले जाने के बादस से वह फिर से क्षेत्रों का दौरा करेंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि आगे बोर्ड की मीटिंग में यह एजेंडा लेकर आया जाए, जिसमें यह सुनिश्चित किया जाए कि ऐसी स्थिति ना हो. साथ ही उन्होंने मंत्री ने यह भी कहा कि जिन अधिकारियों ने लापरवाही बरती है उनके बारे में भी बातचीत की जाए.

ये भी पढ़ें: ग्रामीणों ने फोड़ा डिपो संचालक का भंडा, अंगूठा लगवाता पर नहीं देता था पूरा राशन

बता दें कि कृषि मंभी ने 10 जिलों के उपायुक्तों को हिदायत दी है कि उनके इलाके में स्थिति यह सुनिश्चित करने के लिए दोबारा दौरे पर जाएंगे. साथ ही जिन अधिकारियों की तरफ से उन्हें गलत रिपोर्ट दी गई थी उन्हें एक्सप्लेनेशन कॉल की गई है.

कृषि मंत्री ने कहा कि अब मैं हर रोज स्थिति की जानकारी ले रहा हूं. हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं जिन किसानों की जमीन पर जलभराव है उन्हें सरकार खर्चा दे. साथ ही सरकार किसानों को टोल फ्री नंबर दिए जाएंगे ताकि स्थिति के बारे में सूचित किया जा सके. 

Trending news