Two Boys Executed in North Korea: US-कोरियाई शो देखना दो लड़कों को पड़ा महंगा, इस देश में सरेआम मिली मौत की सजा
topStories1hindi1473665

Two Boys Executed in North Korea: US-कोरियाई शो देखना दो लड़कों को पड़ा महंगा, इस देश में सरेआम मिली मौत की सजा

Kim Jong Un Family: शहर के एक एयरफील्ड में स्थानीय लोगों के सामने इन दोनों को मौत के घाट उतार दिया गया. घटना अक्टूबर की है लेकिन इनकी मौत की जानकारी पिछले हफ्ते सामने आई. सरकार ने कहा कि इन दो लड़कों ने जो काम किया है वो हैवान का है इसलिए लोगों के सामने इनको मौत की सजा दी गई. 

Two Boys Executed in North Korea: US-कोरियाई शो देखना दो लड़कों को पड़ा महंगा, इस देश में सरेआम मिली मौत की सजा

North Korea News: अमेरिकी और कोरियाई मूवी देखना उत्तर कोरिया के दो लड़कों को बहुत महंगा पड़ा. इसकी कीमत उन्हें अपनी जान देकर गंवानी पड़ी. कोरियाई ड्रामा, जिसे के-ड्रामा भी कहा जाता है, देखना या बांटना नॉर्थ कोरिया में बैन है. द इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक, इन लड़कों की उम्र 16 और 17 साल है. ये दोनों अक्टूबर में नॉर्थ कोरिया के रियांगगैंग प्रांत स्थित स्कूल में मिले और उन्होंने कई साउथ कोरिया और अमेरिकी ड्रामा शो देखे.

द मिरर के मुताबिक, शहर के एक एयरफील्ड में स्थानीय लोगों के सामने इन दोनों को मौत के घाट उतार दिया गया. घटना अक्टूबर की है लेकिन इनकी मौत की जानकारी पिछले हफ्ते सामने आई. सरकार ने कहा कि इन दो लड़कों ने जो काम किया है वो हैवान का है इसलिए लोगों के सामने इनको मौत की सजा दी गई. पिछले साल नॉर्थ कोरिया में किम जोंग उन के पिता किम जोंग II की पुण्यतिथि पर 11 दिन के शोक का ऐलान किया गया था. 

इस अवधि में नागरिकों के हंसने, शॉपिंग और पीने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. 2020 में, सरकार ने देश में लोकप्रिय हो रहे कोरियाई शो पर अपनी कार्रवाई के तहत विदेशी सूचना और प्रभाव पर प्रतिबंध लगा दिया था. साउथ कोरियाई शोज की फ्लैश ड्राइव्स पर स्मग्लिंग की जाती है. जुर्माना, जेल और मौत से बचने के लिए बंद कमरों में लोग इनको देखते हैं. 

पिछले दिनों नॉर्थ कोरिया ने नागरिकों के लिए अजीबोगरीब फरमान जारी किया था. नागरिकों से कहा गया था कि वे बम, गन और सैटेलाइट पर अपने बच्चों के नाम रखें. प्रशासन के मुताबिक, ये नाम देशभक्ति से ओत-प्रोत हैं. सरकार के इस फैसले से माता-पिता नाराज हैं. अधिकारियों के मुताबिक, इस आदेश का पालन नहीं करने वालों पर जुर्माना लगाया जाएगा. नामों में बदलाव को लेकर पिछले महीने से लोगों को नोटिस जारी किए जा रहे हैं. नागरिकों के पास इस साल के आखिर तक का वक्त है.

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news