T20 World Cup: भारत के हाथ से क्यों फिसल गया टी20 वर्ल्ड कप जीतने का मौका? ये रहे 4 सबसे बड़े कारण
topStories1hindi1436284

T20 World Cup: भारत के हाथ से क्यों फिसल गया टी20 वर्ल्ड कप जीतने का मौका? ये रहे 4 सबसे बड़े कारण

Team India: रोहित शर्मा की कप्तानी वाली टीम इंडिया अब बिना टी20 वर्ल्ड कप की ट्रॉफी के अपने देश वापस लौटेगी. एडिलेड में गुरुवार को खेले गए टी20 वर्ल्ड कप 2022 के सेमीफाइनल मैच में इंग्लैंड ने भारत को 10 विकेट से हराकर उसका खिताब जीतने का सपना तोड़ दिया. 

T20 World Cup: भारत के हाथ से क्यों फिसल गया टी20 वर्ल्ड कप जीतने का मौका? ये रहे 4 सबसे बड़े कारण

T20 World Cup 2022: रोहित शर्मा की कप्तानी वाली टीम इंडिया अब बिना टी20 वर्ल्ड कप की ट्रॉफी के अपने देश वापस लौटेगी. एडिलेड में गुरुवार को खेले गए टी20 वर्ल्ड कप 2022 के सेमीफाइनल मैच में इंग्लैंड ने भारत को 10 विकेट से हराकर उसका खिताब जीतने का सपना तोड़ दिया. ऐसे 5 सबसे बड़े कारण रहे हैं, जिसकी वजह से टीम इंडिया रोहित शर्मा की कप्तानी में टी20 वर्ल्ड कप 2022 का खिताब जीतने में नाकाम रही है. 

1. रोहित और राहुल का फ्लॉप ओपनिंग कॉम्बिनेशन

टी20 वर्ल्ड कप 2022 में रोहित शर्मा और केएल राहुल के फ्लॉप ओपनिंग कॉम्बिनेशन ने टीम इंडिया का खिताब जीतने का सपना तोड़ा है. टी20 वर्ल्ड कप 2022 के दौरान एक मैच में कभी रोहित शर्मा फ्लॉप होते थे तो दूसरे मैच में केएल राहुल. ये दोनों ही बल्लेबाज कभी एक साथ बल्ले से हिट साबित नहीं हुए, जिससे टीम इंडिया का पावर-प्ले में प्रदर्शन सबसे घटिया रहा है. पावर-प्ले में कम रन बनने और ओपनरों के फ्लॉप शो की वजह से ही टीम इंडिया के हाथ से टी20 वर्ल्ड कप जीतने का मौका फिसल गया. रोहित शर्मा और केएल राहुल का ओपनिंग कॉम्बिनेशन टीम इंडिया के लिए फायदेमंद साबित नहीं हुआ है.

2. ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक में से किसी एक को चुनने की दुविधा 

37 साल के दिनेश कार्तिक को भारतीय टीम मैनेजमेंट और सेलेक्टर्स ने फिनिशर के तौर पर टी20 वर्ल्ड कप 2022 में खेलने का मौका दिया था, लेकिन टूर्नामेंट के शुरुआती चार मैचों में मौका देकर उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर कर दिया गया. दूसरी तरफ ऋषभ पंत टी20 वर्ल्ड कप 2022 के पहले चार मैचों में बेंच गर्म करते रहे और फिर अचानक दो मैचों में उन्हें खेलने का मौका मिला तो उनकी हवा निकल गई और टीम मैनेजमेंट की प्लानिंग की पोल खुल गई. ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक में से किसी एक को चुनने की दुविधा टीम इंडिया को ले डूबी और उसका खिताब जीतने का सपना टूट गया.

3. चहल को बेंच पर बैठाकर फ्लॉप अश्विन-अक्षर को लगातार मौके देना

पूरे टी20 वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में टीम इंडिया के सबसे खतरनाक लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल बेंच गर्म करते रहे और साथी खिलाड़ियों को पानी पिलाने का काम करते रहे. कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ ने फिसड्डी स्पिनर्स रविचंद्रन अश्विन और अक्षर पटेल को फ्लॉप होने के बावजूद लगातार मौके दिए. अश्विन ने 6 मैचों में 6 विकेट चटकाए और अक्षर पटेल ने चार मैचों में महज 3 विकेट हासिल किए. युजवेंद्र चहल को पूरे टी20 वर्ल्ड कप में प्लेइंग इलेवन से बाहर रखने का फैसला हैरानी वाला रहा, जो टीम इंडिया के लिए बेहद नुकसानदायक भी साबित हुआ. युजवेंद्र चहल अगर इस टी20 वर्ल्ड कप में खेलते तो तस्वीर ही अलग होती. 

4. टीम इंडिया के स्क्वॉड में सिर्फ एक ही 140+ Kmph की स्पीड वाला तेज गेंदबाज

टी20 वर्ल्ड कप 2022 से पहले ही जसप्रीत बुमराह चोटिल होकर बाहर हो चुके थे और उनकी जगह मोहम्मद शमी को टीम इंडिया के टी20 वर्ल्ड कप स्क्वॉड में मौका दिया गया. टीम इंडिया के टी20 वर्ल्ड कप स्क्वॉड में मोहम्मद शमी ही इकलौते ऐसे तेज गेंदबाज थे, जो लगातार 140-145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करने में सक्षम थे. इसके अलावा टीम इंडिया के बाकी तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल और अर्शदीप सिंह थे, जिनके पास रफ्तार नाम की कोई चीज ही नहीं थी, जो ऑस्ट्रेलिया के हालात में बहुत अहम था. सेमीफाइनल में मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार और अर्शदीप सिंह सभी फ्लॉप रहे.

Trending news