Vitamin D Deficiency: आपकी जीभ भी देती है विटामिन डी की कमी के संकेत, ये लक्षण हैं सबसे खतरनाक
topStories1hindi1002037

Vitamin D Deficiency: आपकी जीभ भी देती है विटामिन डी की कमी के संकेत, ये लक्षण हैं सबसे खतरनाक

Vitamin D Deficiency: विटामिन डी की कमी से आपको कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं, इसलिए जरूरी है कि आप इन लक्षणों को पहचानें.

  • बर्निंग माउथ सिंड्रोम शरीर में कई दूसरे न्यूट्रिएंट्स की कमी का संकेत भी हो सकता है.
  • विटामिन डी की कमी से आपको थकान महसूस होगी.
  • इसके अलावा हड्डियों में दर्द, मसल क्रैम्प और मूड चेंज जैसे लक्षण भी दिख सकते हैं.

Trending Photos

Vitamin D Deficiency: आपकी जीभ भी देती है विटामिन डी की कमी के संकेत, ये लक्षण हैं सबसे खतरनाक

नई दिल्ली: स्वस्थ रहने के लिए शरीर को कई पोषक तत्वों की जरूरत होती है और इन्हीं में से एक है Vitamin D. ये एक fat-soluble न्यूट्रिएंट है, जो शरीर में सूरज की रोशनी से बनता है. सूरज की रोशनी (Sunlight) पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी लेने का प्राइमरी सोर्स है. खाने की चीजों से आपको विटामिन डी की पर्याप्त मात्रा नहीं मिलती. 

विटामिन डी क्यों जरूरी?

आपकी हड्डियों, दांतों, और मासंपेशियों को स्वस्थ रखने में विटामिन डी का अहम रोल होता है और इसकी पर्याप्त मात्रा शरीर में होनी चाहिए. शरीर में इस पोषक तत्व की कमी होने पर आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ता है. 

जीभ से लग सकता है पता 

आमतौर पर विटामिन डी की कमी का पता ब्लड टेस्ट से चल जाता है, लेकिन शोधकर्ताओं ने एक नया और आसान तरीका भी ढूंढा है जिससे आप शरीर में विटामिन डी कमी का पता लगा सकते हैं. ये तरीका है, अपनी जीभ की self-examining. इसके ​जरिए आप ये जान सकते हैं कि आपकी बॉडी में विटामिन डी की कमी है या नहीं.

अमेरिकी रिसर्च सेंटर Mayo Clinic के Dermatology डिपार्टमेंट ने एक स्टडी की है. इस स्टडी में ऐसे लोगों को शामिल किया गया था जिनमें burning mouth syndrome (BMS) के लक्षण थे. इनकी फास्टिंग ब्लड ग्लूकोज, विटामिन डी (D2 and D3), विटामिन बी 6, जिंक, विटामिन बी 1 और TSH की स्क्रीनिंग की गई. 

दिख सकते हैं ये लक्षण

​शोधकर्ताओं ने पाया कि लोगों में होठों और जीभ पर जलन के साथ दर्द, ड्राइनेस, जीभ का सुन्न हो जाना और खराब स्वाद आने जैसे लक्षण थे. मुंह में दिखने वाले ये लक्षण हर किसी में अलग-अलग थे और खाने पर ये दर्द बढ़ जाता था. 

शोधकर्ताओं ने इस स्टडी के नतीजों में कहा कि अगर इसके पीछे की मुख्य वजह को प्रभावी ढंग से खत्म नहीं किया जाता तो इस कंडीशन को ठीक नहीं किया जा सकता है. कई लोगों में ​ये लक्षण गंभीर रूप भी ले सकते हैं. 

इन बीमारियों का खतरा

विटामिन डी की कमी से Inflammatory cytokines, pneumonia और Viral upper respiratory tract infections जैसी बीमारियों का खतरा हो सकता है, इसलिए इन लक्षणों को नजरअंदाज न करें.

हालांकि स्टडी में ये भी कहा गया है कि बर्निंग माउथ सिंड्रोम शरीर में कई दूसरे न्यूट्रिएंट्स की कमी का संकेत भी हो सकता है, इसलिए सही कारण जानने के लिए आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए. 

विटामिन डी की कमी से आपको थकान महसूस होगी. इसके अलावा हड्डियों में दर्द, मसल क्रैम्प और मूड चेंज जैसे लक्षण भी दिख सकते हैं.

Diabetes के मरीजों के लिए वरदान हो सकता है ये जूस, 15 मिनट में कम होगा शुगर लेवल

रोजाना इतनी देर रहें धूप में

70 साल से कम उम्र के लोगों के लिए रोजाना विटामिन डी का डायट्री इनटेक 600 IU तक होना चाहिए. वहीं अगर आपकी उम्र 70 से ज्यादा है, तो जरूरी है कि ये 800 IU से ज्यादा हो.

विटामिन डी के लिए आपका कुछ ही देर तक धूप में रहना पर्याप्त है. वहीं ये मौसम और सूरज की रोशनी की इंटेसिटी के हिसाब से बदलता रहता है. गर्मियों में आप सिर्फ 10 से 20 मिनट तक धूप में रहें. वहीं सर्दियों में ये समय दो घंटे तक होना जरूरी है. 

इसके अलावा विटामिन डी के लिए आप पालक, सोयाबीन, ओकरा, व्हाइट बीन्स, Sardines और Salmon जैसी मछलियों को डाइट में शामिल कर सकते हैं.

Trending news