Diabetes: शरीर में इस विटामिन की कमी बढ़ा देगी डायबिटीज का खतरा, इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज
topStories1hindi1040283

Diabetes: शरीर में इस विटामिन की कमी बढ़ा देगी डायबिटीज का खतरा, इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज

High Blood Sugar: डायबिटीज एक गंभीर स्थिति है जब शरीर में ग्लूकोज लेवल बहुत ज्यादा बढ़ जाता है. शरीर में एक खास विटामिन (Vitamin) की कमी डायबिटीज (Diabetes) के खतरे को बढ़ा सकती है.

  • शरीर में ​इंसुलिन के नॉर्मल रिलीज में विटामिन D अहम रोल अदा करता है.
  • विटामिन D की शरीर में पर्याप्त मात्रा इंफ्लामेशन को कम करती है.
  • ये Insulin Resistance को बढ़ाने में मदद करता है.

Trending Photos

Diabetes: शरीर में इस विटामिन की कमी बढ़ा देगी डायबिटीज का खतरा, इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज

नई दिल्ली: शरीर में विटामिन डी (D) की कमी डायबिटीज (Diabetes) के खतरे को बढ़ा सकती है. बॉडी सही तरीके से फंक्शन करे इसके लिए विटामिन जरूरी है और शरीर में किसी भी Vitamin की कमी कई बीमारियों की वजह बन सकती है.

विटामिन डी की कमी से डायबिटीज का खतरा

एक स्टडी के मुताबिक, शरीर में विटामिन डी की कमी होने से डायबिटीज की बीमारी भी हो सकती है. डायबिटीज एक गंभीर स्थिति है जब शरीर में ग्लूकोज लेवल बहुत ज्यादा बढ़ जाता है. इस स्थिति में शरीर उतनी मात्रा में इंसुलिन नहीं बना पाता जितनी बॉडी को जरूरत होती है या फिर शरीर की कोशिकाएं इं​सुलिन को लेकर रिएक्ट नहीं करतीं. 

जानिए क्या है इसका असर

विटामिन डी को sunshine vitamin भी कहा जाता है क्योंकि, सूरज की रोशनी विटामिन डी का सबसे अच्छा सोर्स है. जब आपकी स्किन पर सूरज की रोशनी पड़ती है, तब इससे आपको विटामिन D मिलता है. इसके अलावा खाने की कई चीजों में भी विटामिन डी होता है. 

कई स्टडीज में ये सामने आया है कि विटामिन डी की कमी डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी के आने के शुरुआती संकेत हो सकते हैं.

ब्लड शुगर लेवल को रेगुलेट करने में इंसुलिन का रोल 

Diabetes.co.uk के मुताबिक, शरीर में विटामिन डी की पर्याप्त मात्रा इंसुलिन के प्रति बॉडी की Sensitivity को बेहतर करती है. इंसुलिन एक हार्मोन है जो ब्लड शुगर लेवल को रेगुलेट करता है. इससे Insulin Resistance का खतरा कम होता है. टाइप 2 डायबिटीज की स्थिति में बॉडी इंसुलिन को लेकर रिएक्ट नहीं करती.

विटामिन डी का सही लेवल 

स्टडी में ये भी कहा गया है कि हर व्यक्ति में विटामिन डी का लेवल अलग-अलग हो सकता है. जरूरी नहीं है कि सभी में विटामिन D का एक ही लेवल हो. 

सुबह उठते ही चाय पीने की है आदत? ये नुकसान जानकर तुरंत छोड़े देंगे पीना

इंफ्लामेशन को कम करता है विटामिन डी

National Library of Medicine में प्रकाशित एक रिव्यू के मुताबिक, शरीर में ​इंसुलिन के नॉर्मल रिलीज में विटामिन डी अहम रोल अदा करता है. विटामिन डी की शरीर में पर्याप्त मात्रा इंफ्लामेशन को कम करती है. ये Insulin Resistance को बढ़ाने में मदद करता है.

कमी से हो सकती है ये दिक्कत

जब आपके शरीर में विटामिन डी की कमी होती है, तब शरीर के अंदर होने वाली कई  प्रक्रियाएं धीमी पड़ने लगती हैं. इसी से डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ जाता है. विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए हर दिन कुछ देर तक धूप में बैठें. इससे हड्डियां और मांसपेशियां भी मजबूत रहेंगी. 

ऑयली फिश, कॉड लिवर ऑयल, रेड मीट और अंडे के पीले भाग जैसी कई चीजों में विटामिन डी (Vitamin D) की अच्छी मात्रा होती है.

इन बातों का रखें ख्याल

हालांकि ये भी ध्यान रखें कि बहुत ज्यादा मात्रा में विटामिन डी न लें. ये भी आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है. लंबे समय तक विटामिन डी सप्लीमेंट लेने से बॉडी में बहुत ज्यादा कैल्शियम बनने लगता है. ये हड्डियों को कमजोर करने के साथ किडनी और हार्ट को भी डैमेज कर सकता है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, बेहतर होगा कि सप्लीमेंट के बजाय सूरज की रोशनी से विटामिन D की कमी को पूरा करने की कोशिश करें. वहीं अगर सप्लीमेंट लेते हैं तो डॉक्टर की सलाह पर ही लें.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. इसे अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें. ZEE NEWS इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

Trending news