Extramarital Affair: पति ने खुद सुनाई अपनी बेवफाई की कहानियां, पत्नी ने फिर जो किया, जानकर नहीं होगा यकीन
topStories1hindi1464065

Extramarital Affair: पति ने खुद सुनाई अपनी बेवफाई की कहानियां, पत्नी ने फिर जो किया, जानकर नहीं होगा यकीन

Relationship News: महिला को न सिर्फ उसके पति ने अपनी बेवफाई के किस्से सुनाए बल्कि सच जानने के बाद भी वह उसके साथ रही और उसे छोड़ नहीं पाई. पढ़िए महिला की पूरी कहानी.

Extramarital Affair: पति ने खुद सुनाई अपनी बेवफाई की कहानियां, पत्नी ने फिर जो किया, जानकर नहीं होगा यकीन

Husband Told Wife About Affairs: क्या होगा अगर आपका पति या पत्नी खुद आपको बताए कि उसके और लोगों के साथ भी अफेयर रहे हैं. शायद इस बात का ख्याल ही इतना दर्द देने वाला होगा कि कोई अंदाजा लगा पाए. कोई भी अपने पार्टनर की बेवफाई बर्दाश्त नहीं कर पाएगा और ना ही सच जानकर उसके साथ रहेगा. लेकिन एक महिला को न सिर्फ उसके पति ने अपनी बेवफाई के किस्से सुनाए बल्कि सच जानने के बाद भी वह उसके साथ रही और उसे छोड़ नहीं पाई. पढ़िए महिला की पूरी कहानी.

महिला ने अपनी स्टोरी इनसाइडर डॉट कॉम के साथ साझा की है. उसने बताया, '2015 का साल था. मेरे पति दफ्तर से घर लौटे और बताने लगे कि उनके कितनी महिलाओं के साथ अफेयर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि वह मुझसे प्यार करते हैं और वह अपनी हरकत पर शर्मिंदा हैं. वह मेरे साथ रहना चाहते हैं और अगर चाहूं तो मैं उनसे झगड़ा कर सकती हूं. उनको बुरा नहीं लगेगा. मगर मैंने ऐसा नहीं किया. मैं कई वजहों से ऐसा नहीं कर पाई. सबसे बड़ी तो यही थी कि मैं प्रेग्नेंट थी और पेट में दूसरा बच्चा था.'

'मैं दूसरी बार गर्भवती थी'

आगे महिला ने कहा, 'पति का सच जानने से एक हफ्ते पहले ही मुझे मालूम चला था कि मैं प्रेग्नेंट हूं और दो बच्चों को पालने में शारीरिक और आर्थिक रूप से तैयार नहीं थी. अकसर लोग मुझसे पूछते हैं कि सब जानकर भी मैं उस इंसान के साथ क्यों रही तो मैं उनको यही जवाब देती हूं.'

महिला ने कहा, 'पति ने जब बताया कि उनके कई महिलाओं से रिश्ते रहे हैं तो मेरे पास कई ऑप्शन्स थे लेकिन मैंने सबसे अच्छा ऑप्शन चुना ताकि मेरी बेटी के जीवन पर कोई गलत असर ना पड़े और मेरा भी जीवन स्थिर रहे.'

महिला ने बताया, 'मैं विवाहित महिला के तौर पर अपना स्टेटस, अपना घर और अपनी सुरक्षा कायम रखना चाहती थी. कई साल तक मैं खामोश रही. मेरे पति और उनके माता-पिता भी इससे बचे रहे. उनको इस बात की भनक तक नहीं लगी. '

बाद में लिया तलाक

महिला ने बताया कि मैंने साल 2020 में डिवोर्स फाइल किया था. तब मुझे यह अहसास हुआ कि मेरे पास न तो खुद के लिए और न ही बच्चों के जीवन के लिए कोई स्थिरता है. मैं चीजों को और साफ तरीके से समझने लगी और उनका खुलासा करना शुरू कर दिया. अतीत में वापस तो नहीं जा सकती, ना ही अपना फैसला बदल सकती थी. लेकिन ये जरूर सोचती हूं कि तब अगर कोई और ऑप्शन चुना होता तो बच्चों और मेरे लिए क्या अलग होता. 

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं.

 

Trending news