उत्तराखंड में हार के बाद कांग्रेस में छिड़ा गृहयुद्ध, रणजीत रावत ने हरदा पर पैसे देकर टिकट बांटने के लगाए आरोप
topStories0hindi1124733

उत्तराखंड में हार के बाद कांग्रेस में छिड़ा गृहयुद्ध, रणजीत रावत ने हरदा पर पैसे देकर टिकट बांटने के लगाए आरोप

चुनावी हार के बाद कांग्रेस नेता अब एक-दूसरे के खिलाफ जमकर आग उगल रहे हैं. हार का मटका एक दूसरे के सिर फोड़ा जा रहा है. यहां तक कि कांग्रेस के कार्यकर्ता सरेआम सोशल मीडिया पर अपने संगठन के खिलाफ लामबंद नजर आ रहे हैं.

उत्तराखंड में हार के बाद कांग्रेस में छिड़ा गृहयुद्ध, रणजीत रावत ने हरदा पर पैसे देकर टिकट बांटने के लगाए आरोप

देहरादून: बीजेपी चुनावी जीत के जश्न में सराबोर है तो उधर कांग्रेस आंतरिक गृहयुद्ध से जूझ रही है. करारी हार मिलने के बाद तो अब कांग्रेस की अंदरूनी लड़ाई खुलकर सतह पर आ गई है. कांग्रेस नेता अब एक-दूसरे के खिलाफ जमकर आग उगल रहे हैं. हार का मटका एक दूसरे के सिर फोड़ा जा रहा है. यहां तक कि कांग्रेस के कार्यकर्ता सरेआम सोशल मीडिया पर अपने संगठन के खिलाफ लामबंद नजर आ रहे हैं.

सियासी गलियारों में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल के इस्तीफे तक की चर्चा हो रही है. कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष रणजीत रावत ने हरीश रावत के खिलाफ ही मोर्चा खोलते हुए उनको आरोपों के कठघरे में ला खड़ा किया. कभी हरीश रावत के कट्टर सेनापति रहे रणजीत रावत आज उनके सबसे बड़े प्रतिद्वंदी बनकर मैदान में हैं.

रणजीत रावत ने कहा है कि हरीश रावत नए कार्यकर्ताओं को अफीम चटाकर सम्मोहित कर देते हैं. रणजीत रावत का कहना है कि हरीश रावत बड़ी मासूमियत से झूठ बोलते हैं. हरीश रावत पर गंभीर आरोप लगाते हुए कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि हरीश रावत ने जिन लोगों को टिकट के नाम पर ठगा और उनसे बहुत बड़ी धनराशि इकट्ठा कि आज वह लोग हरीश रावत को ढूंढ रहे हैं. शायद ये हरीश रावत पर अब तक का सबसे गंभीर आरोप होगा जो उनकी अपनी ही पार्टी के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष ने लगाया है. 

वहीं, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने रणजीत रावत को नसीहत देते जरूर नजर आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि कोई भी बात हो तो पार्टी फोरम में की जानी चाहिए और अगर उनके पास इस बात की कोई तथ्य है तो वह सामने रखेंगे. कांग्रेस में मची इस रार पर बीजेपी को अब हमलावर होने का मौका मिल गया है. बीजेपी का कहना है कि जिस तरह से कांग्रेस के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष ही ये आरोप लगा रहे हैं और जिस प्रकार से लालकुआं में पैसा बहाकर बीजेपी कार्यकर्ताओं को खरीदने की कोशिश की गई ऐसे में बात सही लगती हैं. 

चुनाव से पहले भी कांग्रेस चेहरे की लड़ाई में उलझी रही और अब चुनाव के बाद कांग्रेस आरोपों की जंग में फंसी हुई है. ऐसे में बीजेपी को भी कांग्रेस के खिलाफ तंज कसने का मौका मिल रहा है. कांग्रेस में चुनावी हार के बाद अब जो गृहयुद्ध छिड़ चुका है , उसका क्या अंजाम होगा फिलहाल ये तो भविष्य के गर्त में है लेकिन इतना जरूर है कि इससे कांग्रेस को इससे नुकसान हो सकता है. 

WATCH LIVE TV

 

 

Trending news