Vishwasghat Diwas: संयुक्त किसान मोर्चा ने मनाया विश्वासघात दिवस, PM Modi का फूंका पुतला
topStories1rajasthan1085134

Vishwasghat Diwas: संयुक्त किसान मोर्चा ने मनाया विश्वासघात दिवस, PM Modi का फूंका पुतला

अखिल भारतीय किसान सभा, जय किसान आंदोलन, एसएफआई, डीवाईएफआई और सीटू के कार्यकर्ताओं ने आज संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर झुंझुनूं में विश्वासघात दिवस (Vishwasghat Diwas) मनाते हुए जुझारू रैली निकाली. सैंकड़ों की संख्या में झुंझुनूं के शिक्षक भवन से जिला कलेक्ट्रेट तक राष्ट्रव्यापी आह्वान पर यह रैली निकाली गई. 

Vishwasghat Diwas: संयुक्त किसान मोर्चा ने मनाया विश्वासघात दिवस, PM Modi का फूंका पुतला

Jhunjhunu: अखिल भारतीय किसान सभा, जय किसान आंदोलन, एसएफआई, डीवाईएफआई और सीटू के कार्यकर्ताओं ने आज संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर झुंझुनूं में विश्वासघात दिवस (Vishwasghat Diwas) मनाते हुए जुझारू रैली निकाली. सैंकड़ों की संख्या में झुंझुनूं के शिक्षक भवन से जिला कलेक्ट्रेट तक राष्ट्रव्यापी आह्वान पर यह रैली निकाली गई. इस मौके पर कामरेड फूलचंद ढेवा ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा संयुक्त किसान मोर्चा के साथ हुए समझौते को लागू न करके जो विश्वासघात किया है, उसके विरोध में रैली निकाली गई. 

समझौते के मुताबिक अब तक केंद्र सरकार (Modi Government) ने ना तो एमएसपी पर कानूनी गारंटी (Legal guarantee on MSP) के लिए कमेटी बनाई है. ना ही उत्तरप्रदेश (UP News), मध्यप्रदेश, उत्तराखंड (Uttrakhand Election), हिमाचल प्रदेश और केंद्र सरकार के द्वारा किसानों पर बनाए गए झूठे मुकदमें वापस लिए गए है. 

यह भी पढ़ें- IAS Pratibha Verma ने संभाला SDM का पदभार, कार्यवाहक SDM हर्षित वर्मा ने सौंपा चार्ज

इसके अलावा शहीद किसान परिवारों को पांच-पांच लाख रुपये और एक-एक सदस्य को नौकरी (Job) को लेकर भी सरकार ने कोई कदम नहीं उठाया है. लखीमपुर खीरी हत्याकांड (Lakhimpur Kheri massacre) के नामजद अभियुक्त केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा (Ajay Kumar Mishra) को बर्खास्त कर गिरफ्तार करने में भी सरकार की कोई दिलचस्पी नहीं है, इसके खिलाफ राष्ट्रव्यापी विश्वासघात दिवस मनाकर रैलियां निकाली जा रही है. 

रैली में शामिल किसान केंद्र सरकार शर्म करो, वादाखिलाफी बंद करो, एमएसपी (MSP) को कानूनी गारंटी दो, दिल्ली में हुए समझौते को लागू करो आदि नारे लगा रहे थे. शिक्षक भवन में आयोजित सभा में अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कामरेड फूलचंद ढेवा, अखिल भारतीय किसान सभा के कामरेड फूलचंद बर्वर, जिलाध्यक्ष कामरेड विद्याधर सिंह गिल, जिला सचिव कामरेड मदन सिंह यादव, अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय सचिव कामरेड रामचंद्र कुलहरि, जिलाध्यक्ष कामरेड ओमप्रकाश झारोड़ा, जिला उपाध्यक्ष कामरेड इंद्राज सिंह चारावास, जय किसान आंदोलन के जयपुर संभागीय अध्यक्ष कैलाश यादव, अखिल भारतीय किसान सभा के कामरेड सुमेर सिंह बुडानियाने संबोधित किया. 

सभी वक्ताओं ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी कि अगर समझौते को शीघ्र लागू नहीं किया तो आंदोलन तेज किया जाएगा तथा तीन फरवरी से यूपी मिशन (UP Election) के तहत भाजपा (BJP) को वोट न देने का किसानों से आह्वान किया जाएगा. संयुक्त किसान मोर्चा का तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल जिसमें अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय सचिव कामरेड रामचंद्र कुलहरि, अखिल भारतीय किसान सभा के जिलाध्यक्ष कामरेड विद्याधर सिंह गिल व जय किसान आंदोलन के जयपुर संभागीय अध्यक्ष कैलाश यादव शामिल थे की तरफ से जिला कलेक्टर को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया. इस अवसर पर जिला कलेक्ट्रेट के सामने प्रधानमंत्री (PM Modi) का पुतला दहन किया. 
Report- Sandeep Kedia

Trending news