जयपुर के सहायक न्यायिक कर्मचारी सुभाष मेहरा की हत्या के विरोध की आग पहुंची भीलवाड़ा, दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन रहा जारी
topStories1rajasthan1466001

जयपुर के सहायक न्यायिक कर्मचारी सुभाष मेहरा की हत्या के विरोध की आग पहुंची भीलवाड़ा, दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन रहा जारी

भीलवाड़ा: जयपुर के सहायक न्यायिक कर्मचारी सुभाष मेहरा की हत्या के विरोध की आग भीलवाड़ा तक पहुंच गई है. आज न्यायिक कर्मचारियों ने सामूहिक अवकाश पर रहते हुए इसका लगातार दूसरे दिन विरोध किया. ये कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर जिला एवं सत्र न्यायालय परिसर में ही धरने पर भी बैठे.

 

जयपुर के सहायक न्यायिक कर्मचारी सुभाष मेहरा की हत्या के विरोध की आग पहुंची भीलवाड़ा, दूसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन रहा जारी

भीलवाड़ा: जिलाध्यक्ष दिलबहादुर सिंह ने बताया की सामूहिक अवकाश के संदर्भ में जिला और सेशन न्यायाधीश को लिखित में सूचना दे दी गई थी. जयपुर न्याय क्षेत्र के सहायक न्यायिक कर्मचारी सुभाष मेहरा की निर्मम हत्या के विरोधस्वरूप न्याय क्षेत्र जयपुर में विगत 20 दिन से सामूहिक अवकाश चल रहा है, लेकिन कर्मचारियों की मांगों पर कोई निष्कर्ष नहीं निकला. इसके चलते यह आंदोलन अब प्रदेश व्यापी आंदोलन का रुप ले चुका है. बुधवार से प्रदेशभर के साथ ही भीलवाड़ा जिले के समस्त न्यायालयों में न्यायिक कर्मचारी सामूहिक अवकाश पर चले गए. 

आज दूसरे दिन भी भीलवाड़ा सहित सम्पूर्ण राजस्थान के समस्त न्यायालयों, राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं जिला मुख्यालयों पर स्थित स्थाई लोक अदालत के समस्त न्यायिक कर्मचारीगण के साथ-साथ समस्त न्यायालयों के कोर्ट मैनेजर सिस्टम ऑफीसर, सिस्टम असिसटेन्ट एवं रात्रिकालीन चौकीदार, इस हत्या के संबंध में जब तक मांगे नहीं मान ली जाती, तब तक सामुहिक अवकाश पर रहे.

 जिलाध्यक्ष सिंह ने बताया कि न्यायिक कर्मचारी संघ की मांग है कि सुभाष मेहरा की हत्या की एफआईआर दर्ज हो, जांच सीबीआई करें, जज को एपीओ किया जाए, विभागीय जांच हो, मेहरा की मोबाइल सिम जब्त हो, राजस्थान के सभी अधिनस्थ न्यायालयों में दास व गुलामी प्रथाम बंद हो, पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपये का मुआवजा, परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए.

उधर, न्यायिक कर्मचारियों के अवकाश पर जाने के बाद सभी अदालतों में कामकाज ठप्प हो गया। ऐसे में दूरदराज से न्यायिक कार्य के लिए आये लोगों को बैरंग लौटना पड़ा।

Reporter-Mohammad Khan

ये भी पढ़ें- राजस्थान के शिक्षा मंत्री बीड़ी कल्ला का जोधपुर दौरा, कहा- बीजेपी सरकार ने कला, संगीत, टीचर की भर्ती बंद कर दी थी​

 

Trending news