खुशखबरी! हरियाणा में मरीजों को बार-बार नहीं कराने महंगे टेस्ट, मिलेगा किफायती इलाज
topStories0hindi1457557

खुशखबरी! हरियाणा में मरीजों को बार-बार नहीं कराने महंगे टेस्ट, मिलेगा किफायती इलाज

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया कि  प्रदेश में 55 अस्पताल ई-उपचार से जुड़े हैं और डॉक्टरों को ई-उपचार के जरिये मरीज की पूरी मेडिकल हिस्ट्री कंप्यूटर पर उपलब्ध होगी. उन्होंने सभी मेडिकल कॉलेज व पीएचसी को ई-उपचार से जोड़ने के लिए कहा है.

खुशखबरी! हरियाणा में मरीजों को बार-बार नहीं कराने महंगे टेस्ट, मिलेगा किफायती इलाज

नई दिल्ली/चंडीगढ़ : रोहतक, करनाल समेत पूरे हरियाणा में बॉन्ड पॉलिसी को लेकर एमबीबीएस छात्रों का विरोध चरम पर है. रोहतक में एमबीबीएस स्टूडेंट्स को मुख्यमंत्री ने बातचीत के लिए बुलाया है. MBBS स्टूडेंट्स और इंस्टीट्यूट में टकराव बढ़ने के बाद छात्रों को 24 घंटे में हॉस्टल खाली करने का अल्टीमेटम देने के साथ ही कानूनी कार्रवाई की भी चेतावनी दी गई है.

इधर हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने प्रदेश में डॉक्टरों की हड़ताल पर बयान देते हुए कहा कि इस मसले पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने संज्ञान लिया है और उनकी आज ही मुख्यमंत्री और अधिकारियों से बात हुई है. उन्होंने उम्मीद करते हुए कहा कि आगामी एक-दो दिन में इसका हल निकल जाएगा.

ये भी पढ़ें : अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज के 7 MBBS छात्र

नई दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में पत्रकारों से बातचीत के दौरान अनिल विज ने सभी डॉक्टरों से आह्वान करते हुए कहा कि डॉक्टर आंदोलन करें, यह उनका अधिकार है, मगर मरीजों को नुकसान नहीं होना चाहिए और इस मामले को मानवता के आधार पर डॉक्टरों को यह देखना चाहिए. 

हर हरियाणवी का होगा मेडिकल चेकअप
हरियाणा में शुरू होने जा रहे स्वास्थ्य सर्वेक्षण पर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि हम हर हरियाणवी का मेडिकल चेकअप करना चाहते हैं और हमें पता होना चाहिए कि हमारे प्रदेश में भिन्न-भिन्न बीमारियों के कितने मरीज हैं. इस कवायद को चरणबद्ध तरीके से यह किया जाएगा. पहले चरण में अंत्योदय परिवारों का चेकअप किया जाएगा. उनका पूरा मेडिकल चेकअप, टेस्ट, ब्लड सैंपल लिए जाएंगे. हम अपनी प्रयोगशालाओं को भी सक्षम बना रहे हैं और लोगों को डिजिटल कार्ड दिए जाएंगे. यह कार्ड ई-उपचार सिस्टम से जुड़ा होगा. 

ई-उपचार के जरिये लोगों को मिलेगी मेडिकल सुविधा 
उन्होंने कहा कि मरीज हरियाणा के किसी भी अस्पताल में जाएंगे तो ई-उपचार के जरिये उन्हें मेडिकल सुविधा मिलेगी. उन्होंने सभी मेडिकल कॉलेज व पीएचसी को ई-उपचार से जोड़ने के लिए कहा है. अभी हमारे प्रदेश में 55 अस्पताल ई-उपचार से जुड़े हैं और डॉक्टरों को ई-उपचार के जरिये मरीज की पूरी मेडिकल हिस्ट्री कंप्यूटर पर उपलब्ध होगी और मरीज को बार-बार टेस्ट नहीं कराने पड़ेंगे. इससे मरीज को बहुत ज्यादा लाभ होने वाला है. हरियाणा ऐसा पहला राज्य होगा, जो यह कदम उठा रहा है. 

हार से आप के सभी नेता डिप्रेशन का शिकार 
स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने आम आदमी पार्टी की उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड व गोवा चुनावों में जो हार हुई है और हिमाचल प्रदेश, गुजरात व दिल्ली में होने जा रही है, उससे इनके सारे नेता डिप्रेशन के शिकार हो गए हैं. डिप्रेशन के मरीज को अपने साये से भी डर लगता है. ऐसे समय उन्हें लगता है कि कोई उन पर हमला कर देगा. मुझे लगता है कि उन्हें अपने आपको मनोचिकित्सक को दिखाना चहिए और इसके लिए इन्हें नियमित तौर पर मनोचिकित्सक रख लेना चाहिए.  

 चंडीगढ़ से हमें कोई हिला नहीं सकता
उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ पर हरियाणा व पंजाब का बराबर का हक है. जब तक हमें एसवाईएल का पानी और हिंदी भाषी क्षेत्र (जो अवार्ड हुए हैं) उसके मुताबिक नहीं मिल जाते, तब तक हम चंडीगढ़ में डटे हुए हैं और कोई हिला नहीं सकता. पंजाब में आप सरकार में लगातार बढ़ रहे जघन्य अपराधों और प्रदेश के बिगड़ते माहौल पर गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि हम इससे चिंतित हैं और हमने इस पर कई कदम उठाए हैं. पंजाब में वह आप को कहना चाहेंगे कि दिल्ली में तो वह पहले यह कहकर छूट जाते थे कि पुलिस हमारे पास नहीं, मगर पंजाब में तो सब कुछ इनके पास है. पंजाब में जघन्य अपराध हो रहे हैं और सरकार को इस पर रोक लगानी चाहिए

Trending news