18 महीने की बच्ची को सांप ने काटा, गांव की कच्ची सड़क के कारण देरी से अस्पताल पहुंची मां, रास्ते में बच्ची ने तौड़ा दम
trendingNow,recommendedStories0/india/bihar-jharkhand/bihar1716240

18 महीने की बच्ची को सांप ने काटा, गांव की कच्ची सड़क के कारण देरी से अस्पताल पहुंची मां, रास्ते में बच्ची ने तौड़ा दम

मृतका की मां ने बताया कि 18 महीने की धनुष्का को सांप ने काट लिया था. जैसे ही सांप के काटने की सूचना मिली तो बिना देरी करते हुए उसे वेल्लोर के एक अस्पताल में ले गए. कच्ची सड़क के कारण अस्पताल पहुंचने में समय लग गया और बच्ची ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया.

18 महीने की बच्ची को सांप ने काटा, गांव की कच्ची सड़क के कारण देरी से अस्पताल पहुंची मां, रास्ते में बच्ची ने तौड़ा दम

तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में विभागीय लापरवाही ने एक 18 महीने की बच्ची की मौत हो गई. दरअसल, बच्ची को सांप ने काटा था, लेकिन बच्ची की मां का कहना कि गांव में सड़क नहीं होने के कारण पैद ही उससे अस्पातल ले जा रहे थे. कच्ची सड़क के कारण बच्चों को 6 घंटे बाद अस्पताल पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया. परिवार के सदस्यों को कहना है कि अगर सड़क ठीक होती तो वह समय पर बच्चों को लेकर अस्पताल पहुंच सकते थे और बच्ची की जान बच सकती थी.

मृतका की मां ने बताया कि 18 महीने की धनुष्का को सांप ने काट लिया था. जैसे ही सांप के काटने की सूचना मिली तो बिना देरी करते हुए उसे वेल्लोर के एक अस्पताल में ले गए. कच्ची सड़क के कारण अस्पताल पहुंचने में समय लग गया और बच्ची ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया. बच्ची के परिजनों का आरोप है कि सड़क खराब होने के वजह से ही बच्ची की मौत हुई है. अगर रास्त ठीक होता, तो वो समय से अस्पातल पहुंच जाते और बच्ची की प्राथमिक इलाज मिल जाता.

संबंधित विभाग के अधिकारियों का कहना है कि इस इलाके की सड़क को बनाने का कार्य किया जा रहा है. आसपाल के गांव में करीब  1,500 लोगों की छितराई हुई आबादी है. साथ ही कहा कि वन विभा से मंजूरी के लिए आवश्यक आवेदन ऑनलाइन कर दिए है. इधर, भाजपा तमिलनाडु इकाई के प्रमुख के.अन्नामलाई ने इस घटना को बेहद ही दर्दनाक बताया है. साथ ही कहा कि इसके लिए पूरी तरह राज्य सरकार जिम्मेदार है.

ये भी पढ़िए-  गोपालगंज में फेसबुक की दोस्ती प्यार में बदली, बिहार से निकल पंजाब में की शादी

 

Trending news