Bad Cholesterol: बढ़ते कोलेस्ट्रॉल से हैं परेशान? तो करें इन फलों का सेवन, मिलेंगे पॉजिटिव रिजल्ट
topStories1hindi1370510

Bad Cholesterol: बढ़ते कोलेस्ट्रॉल से हैं परेशान? तो करें इन फलों का सेवन, मिलेंगे पॉजिटिव रिजल्ट

How to reduce cholesterol levels: कोलेस्ट्रॉल बढ़ने से हमें दिल की बीमारी हो सकती है और अगर इसे कंट्रोल नहीं किया जाए तो आपको दिल का दौरा भी पड़ सकता है. आइए जानते हैं किन फलों का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम किया जा सकता है.

Bad Cholesterol: बढ़ते कोलेस्ट्रॉल से हैं परेशान? तो करें इन फलों का सेवन, मिलेंगे पॉजिटिव रिजल्ट

How to reduce cholesterol: कोलेस्ट्रॉल आज के समय में एक आम बीमारी हो गई है. कोलेस्ट्रॉल की वजह से वजन बढ़ने की समस्या और दिल की बीमारी का खतरा रहता है. इसे कंट्रोल में रखने के लिए फैट वाली चीजों का कम से कम प्रयोग करना चाहिए. हमारे आस-पास कई ऐसे फल हैं, जो डेली डाइट में शामिल करने से कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में किया जा सकता है.

एवोकाडो
एवोकाडो में मोनोअनसैचुरेटेड और पॉलीअनसैचुरेटेड फैट्स होते हैं, जो दिल के लिए फायदेमंद होते हैं. एवोकैडो दोनों कोलेस्ट्रॉल (एचडीएल और एलडीएल) के लेवल को नियंत्रण में कर सकता है.

नाशपाती
नाशपाती में पानी में घुलनशील पेक्टिन फाइबर पाया जाता है, जो सेल्यूलोज के लेवल को नियंत्रित करता है. नाशपाती में हेल्दी बॉडी के लिए कई जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं. प्राकृतिक विटामिन, खनिज और एंजाइम के साथ-साथ इसमें एंटीऑक्सिडेंट भी होते हैं, जो खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने की क्षमता रखते हैं.

पपीता
दिल के मरीजों के लिए पपीता खाना बहुत फायदेमंद होता है. यह फाइबर, विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जो शरीर में मौजूद ब्लड-वेन्स में कोलेस्ट्रॉल के थक्के नहीं बनने देता. कोलेस्ट्रॉल के थक्के हाई बीपी सहित हार्ट अटैक और कई अन्य दिल की बीमारी का कारण बन सकते हैं.

सेब
सेब में प्रोटीन और विटामिन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जिन्हें सेहत का खजाना कहते हैं. इसके नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल कम होता है और ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है. सेब में पेक्टिन के घुलनशील फाइबर होते हैं, जो खून में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करते हैं और शरीर के लिए एंटी-बैक्टीरियल फूड की भूमिका निभाते हैं.

Disclaimer: इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी ज़ी न्यूज़ हिन्दी की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.

Trending news